अगर अब यातायात नियम तोड़े तो घर पहुंच जाएंगे यमराज

बिना हैलमट सड़क पर निकलने वाले और यातायात नियमों को तोड़ने वालों को सचमुच के यमराज पकड़े या न पकड़ें बंगलूरू ट्रैफिक पुलिस के यमराज जरूर पकड़ रहे हैं। यमराज की तरह काले और सुनहरे कपड़े में मुकुट और बड़ी बड़ी मूंछ वाले गदाधारी यमराज बिना हैलमेट मोटरसाइकिल सवारों को रोक रहे हैं और उन्हें यातायात नियम समझा रहे हैं। यही नहीं वह उनलोगों को चेतावनी में यह भी कह रहे हैं कि वह नहीं सुधरे तो वह उनके घर तक पहुंच जाएंगे।अगर अब यातायात नियम तोड़े तो घर पहुंच जाएंगे यमराज

सड़क पर निकले यमराज बंगलूरू के हैं। हलासुरु गेट यातायात पुलिस ने लोगों में यातायात नियमों के प्रति जागरुकता फैलाने के लिये ‘यमराज’ को अपना ब्रैंड एम्बेसडर बनाया है , ताकि लोगों में यह संदेश जाये कि अगर वे हेलमेट के बगैर, लापरवाही से वाहन चलाते हैं या यातायात नियमों का उल्लंघन करते हैं तो यह उनके जीवन के लिये खतरनाक हो सकता है।
यातायात पुलिस उपायुक्त अनुपम अग्रवाल ने बंगलूरू पुलिस जुलाई माह को सड़क सुरक्षा माह के तौर मना रही है। मोटरबाइक सवारों को सड़क यातायात नियम समझाने के लिए हमने यह नया तरीका निकाला है। आने वाले समय में हमारा विभाग स्कूल कॉलेजों में जाकर छात्र-छात्राओं को यातायात के नियमों से जागरूक करेगा साथ ही इसके लिए नुक्कड़ नाटक जैसे कई कार्यक्रमों का आयोजन भी किया जाएगा।

अनुपम अग्रवाल ने बताया कि इन अभियानों के साथ हमने ‘यम’ बना कर एक कलाकार को सड़क पर उतारा है जो लोगों में यह संदेश फैलाने में लगा है कि अगर ट्रैफिक नियमों को तोड़ा और पालन नहीं किया तो यमराज उनके घर आ जायेगा।पिछले कुछ महीनों में मोटरबाइकर्स की बढ़ती दुर्घटनाओं को देखते हुए कर्नाटक पुलिस ने एक नायाब तरीका ढूंढ निकाला है। कर्नाटक के गृह मंत्रालय के ताजे आंकड़ो के मुताबिक, इस साल जून तक इस शहर में हुए 44 जानलेवा हादसों में से 40 मौतें इन मोटरसाइकिल सवार की हुई है जिन्होंने हैलमेट नहीं पहना था।

2017 में बंगलूरू में 77 सड़क हादसों में 66 जान गंवाने वाले लोगों ने भी हेलमेट नहीं पहना था।