अगर आपके भी घुटने करते है दर्द तो हो जाये सावधान

- in जीवनशैली

नई दिल्ली: दुनियाभर में 12 अक्टूबर वर्ल्ड आर्थराइटिस डे के रूप में मनाया जाता है। आर्थराइटिस एक तरह की बीमारी है, जिसमें उम्र बढ़ने के साथ-साथ जोड़ों में दर्द की समस्या उत्पन्न होने लगती है। यूं तो ये समस्या ज्यादातर 65 की उम्र के बाद लोगों को परेशान करती है। लेकिन, 30 फीसदी लोग जो जोड़ों के दर्द से जूझ रहे हैं उनकी उम्र 65 वर्ष से कम ही है। आर्थराइटिस फाउंडेशन के मुताबिक, लगभग 31 मिलियन लोग ऑस्टियोआर्थराइटिस के दर्द से जूझ रहे हैं, इस बीमारी में घुटनों में दर्द होता है। अगर आप भी जोड़ों के दर्द से परेशान हैं जिनकी मदद से इस समस्या से राहत पा सकेंगे।
एक्सरसाइज- अगर आप आर्थराइटिस बीमारी से पीड़ित हैं तो ज्यादा इंटेंसिटी वाली एक्सरसाइज करने से बचें। आप सिर्फ वॉक, स्विमिंग, साइकिलिंग करें। इन एक्सरसाइज से आपके घुटनों को ठीक तरह से काम करने में मदद मिलेगी। लेकिन ये कम इंटेंसिटी वाली एक्सरसाइज करने से पहले अपने डॉक्टर से जरूर संपर्क करें।
बर्फ की सिकाई- अगर आपके जोड़ों में दर्द और सूजन की समस्या हो रही है, तो बेहतर होगा कि सबसे पहले आप अपने घुटनों को आराम दें। इसके बाद अपने जोड़ों पर बर्फ से सिकाई करें। इससे घुटनों का दर्द और सूजन कम होगी। आप चाहें तो घुटनों पर दर्द की गर्म पट्टी भी बांध सकते हैं, इससे भी दर्द में काफी आराम मिलता है।
वजन को नियंत्रण में रखें- अगर आपके घुटनों में पहले से ही काफी दर्द रहता है, तो आपका अधिक वजन आपके घुटनों के लिए खतरनाक साबित हो सकता है। कई लोगों में ज्यादा वजन होने के कारण भी घुटनों पर अधिक प्रेशर पड़ने लगता है, जिस कारण घुटनों में दर्द की समस्या हो जाती है।
सही जूते चुनें-अगर आप आर्थराइटिस समस्या से जूझ रहे हैं तो आपको बहुत सावधानी के साथ अपने जूतों का चयन करने की जरूरत है। आर्थराइटिस एंड ह्यूमेटोलॉजी जर्नल में प्रकाशित एक स्टडी की रिपोर्ट के मुताबिक, फ्लैट और फ्लेक्सिबल जूते पहनने से घुटनों पर प्रेशर कम पड़ता है और जोड़ों के दर्द में आराम मिलता है। अक्सर देखा जाता है कि कुछ लोग शरीर के किसी भी हिस्से में दर्द होने पर जरूरत से ज्यादा ही आराम करते हैं। ज्यादा आराम करने से भी मांसपेशियां कमजोर पड़ने लगती हैं, जिस कारण जोड़ों का दर्द गंभीर रूप ले लेता है। जोड़ों को बेहतर तरीके से काम करने के लिए उनमें पैरों में मूवमेंट करते रहना बेहद जरूरी है। इसके लिए आप चाहें तो वॉकिंग, साइकिलिंग भी कर सकते हैं। अगर आप जोड़ों के दर्द के कारण रातभर ठीक से सो नहीं पाते हैं तो हो सकता है कि आप जल्द ही आर्थराइटिस समस्या की चपेट में आ जाएं। अगर आपके जोड़ों में अधिक दर्द या सूजन हो तो बेहतर होगा कि अपने डॉक्टर से संपर्क करें।