अगर आप रोजाना करते हैं ये 4 काम तो जल्द हो जाएगी आपकी मृत्यु, हो जाइए सावधान

- in अद्धयात्म

आचार्य चाणक्य की बात करें तो उनके बारे में ऐसा कहा जाता है कि वह एक महान विद्वान थे। एक महान विद्वान होने की वजह से चाणक्य ने अपने जीवन में मिले सभी अनुभवों को मिलाकर चाणक्य नीति नामक एक पुस्तिका का लेखन किया। उस चाणक्य नीति में चाणक्य ने कुछ ऐसी बातें बताई है जिसका पालन अगर कोई व्यक्ति अपने जीवन में कर लेता है तो ऐसे में उसका जीवन सफल हो जाएगा। परंतु अगर वह व्यक्ति उनके द्वारा बताए गए बातों का पालन नहीं करता है तो ऐसे में सफलता उनके कदम बिल्कुल भी नहीं चूमेगी। भले ही उनके द्वारा बताई गई बातें आपको असल जिंदगी में कड़वी लगे परंतु उनके द्वारा बताई गई हर एक बात कड़वी सच्चाई है। आज हम आपको आचार्य चाणक्य के द्वारा बताई गई कुछ ऐसे कामों के बारे में बताने वाले हैं जिसे कि अगर आप अपने जीवन में करते हैं तो ऐसे में आपकी मौत होने की संभावना काफी हद तक बढ़ जाती है। आचार्य चाणक्य की बात करें तो उनके बारे में ऐसा कहा जाता है कि वह एक महान विद्वान थे। एक महान विद्वान होने की वजह से चाणक्य ने अपने जीवन में मिले सभी अनुभवों को मिलाकर चाणक्य नीति नामक एक पुस्तिका का लेखन किया। उस चाणक्य नीति में चाणक्य ने कुछ ऐसी बातें बताई है जिसका पालन अगर कोई व्यक्ति अपने जीवन में कर लेता है तो ऐसे में उसका जीवन सफल हो जाएगा। परंतु अगर वह व्यक्ति उनके द्वारा बताए गए बातों का पालन नहीं करता है तो ऐसे में सफलता उनके कदम बिल्कुल भी नहीं चूमेगी। भले ही उनके द्वारा बताई गई बातें आपको असल जिंदगी में कड़वी लगे परंतु उनके द्वारा बताई गई हर एक बात कड़वी सच्चाई है। आज हम आपको आचार्य चाणक्य के द्वारा बताई गई कुछ ऐसे कामों के बारे में बताने वाले हैं जिसे कि अगर आप अपने जीवन में करते हैं तो ऐसे में आपकी मौत होने की संभावना काफी हद तक बढ़ जाती है। तो चलिए जानते हैं उन कार्यों के बारे में  जो खुद का ख्याल न रखता हो   आज के जमाने में बहुत सारे ऐसे लोग हमारे आसपास मिल जाया करते हैं जो कि खुद का ख्याल कभी भी नहीं रखते। खुद का ख्याल ना रखने की वजह से वह हर एक वक्त गंदे बनकर घूमते रहते है। इसके साथ ही साथ उन्हें अपनी जान की भी कोई परवाह नहीं हुआ करती। खुद से काफी ज्यादा नफरत रखने और खुद का ख्याल ना रखने की वजह से इन लोगों की मौत साधारण लोगों की तुलना में काफी जल्द हो जाया करती है।  जो बड़ों से नफरत करता है   कुछ ऐसे भी लोग होते हैं जो अपने से बड़े लोगों से काफी ज्यादा नफरत किया करते हैं। नफरत करने की वजह से ये लोग अपने से बड़ों की इज्जत नहीं किया करते हैं। उन लोगों के बारे में चाणक्य ने ऐसा कहा है कि उनकी मृत्यु भी बहुत ही जल्द हो जाया करती है। चाणक्य के मुताबिक अगर आप किसी भी बड़े व्यक्ति की इज्जत नहीं करते हैं तो ऐसे में आपको मानसिक क्षति होने के साथ-साथ शारीरिक क्षति भी हुआ करती है। मानसिक और शारीरिक क्षति होने की वजह से उन लोगों की उम्र काफी कम हो जाती है और वे लोग आम लोगों की तुलना में बहुत जल्द मर जाते हैं।  जो लोग गुरु से घृणा करते हैं   जो लोग अपने गुरु से घृणा किया करते हैं उनके बारे में ऐसा कहा जाता है कि उनकी मृत्यु बहुत जल्दी हो जाती है। आपको बता दे कि शास्त्रों में गुरु को भगवान का दर्जा दिया गया है। ऐसे में अगर आप गुरु का अपमान कर रहे हैं तो आप अपने भगवान का भी अपमान कर रहे हैं। ऐसा कहा जाता है कि अगर आप अपने गुरु की घृणा करते हैं तो ऐसे में आप की मानसिक संतुलन काफी हद तक बिगड़ जायेगी जिसकी वजह से आपकी मौत बहुत जल्द हो जायेगी।  जो विद्वानों के साथ दुर्व्यवहार करता हो   शास्त्रों और ग्रंथों की माने तो अगर आप बड़े-बड़े विद्वानों के साथ दुर्व्यवहार करते हैं तो ऐसे में यह दुनिया का सबसे बड़ा पाप है। ऐसा करने से आपकी मौत बहुत जल्दी आपके निकट आ जाया करती है। इसलिए अपने जीवन में कभी भी बड़े विद्वानों के साथ दुर्व्यवहार भूलकर भी नहीं करनी चाहिए।

जो खुद का ख्याल न रखता हो

आज के जमाने में बहुत सारे ऐसे लोग हमारे आसपास मिल जाया करते हैं जो कि खुद का ख्याल कभी भी नहीं रखते। खुद का ख्याल ना रखने की वजह से वह हर एक वक्त गंदे बनकर घूमते रहते है। इसके साथ ही साथ उन्हें अपनी जान की भी कोई परवाह नहीं हुआ करती। खुद से काफी ज्यादा नफरत रखने और खुद का ख्याल ना रखने की वजह से इन लोगों की मौत साधारण लोगों की तुलना में काफी जल्द हो जाया करती है।

जो बड़ों से नफरत करता है

कुछ ऐसे भी लोग होते हैं जो अपने से बड़े लोगों से काफी ज्यादा नफरत किया करते हैं। नफरत करने की वजह से ये लोग अपने से बड़ों की इज्जत नहीं किया करते हैं। उन लोगों के बारे में चाणक्य ने ऐसा कहा है कि उनकी मृत्यु भी बहुत ही जल्द हो जाया करती है। चाणक्य के मुताबिक अगर आप किसी भी बड़े व्यक्ति की इज्जत नहीं करते हैं तो ऐसे में आपको मानसिक क्षति होने के साथ-साथ शारीरिक क्षति भी हुआ करती है। मानसिक और शारीरिक क्षति होने की वजह से उन लोगों की उम्र काफी कम हो जाती है और वे लोग आम लोगों की तुलना में बहुत जल्द मर जाते हैं।

जो लोग गुरु से घृणा करते हैं

जो लोग अपने गुरु से घृणा किया करते हैं उनके बारे में ऐसा कहा जाता है कि उनकी मृत्यु बहुत जल्दी हो जाती है। आपको बता दे कि शास्त्रों में गुरु को भगवान का दर्जा दिया गया है। ऐसे में अगर आप गुरु का अपमान कर रहे हैं तो आप अपने भगवान का भी अपमान कर रहे हैं। ऐसा कहा जाता है कि अगर आप अपने गुरु की घृणा करते हैं तो ऐसे में आप की मानसिक संतुलन काफी हद तक बिगड़ जायेगी जिसकी वजह से आपकी मौत बहुत जल्द हो जायेगी।

जो विद्वानों के साथ दुर्व्यवहार करता हो

शास्त्रों और ग्रंथों की माने तो अगर आप बड़े-बड़े विद्वानों के साथ दुर्व्यवहार करते हैं तो ऐसे में यह दुनिया का सबसे बड़ा पाप है। ऐसा करने से आपकी मौत बहुत जल्दी आपके निकट आ जाया करती है। इसलिए अपने जीवन में कभी भी बड़े विद्वानों के साथ दुर्व्यवहार भूलकर भी नहीं करनी चाहिए।