अगर गले में पहनते है माला या ताबीज़ तो जरूर पढ़ें ये खबर, वरना बहुत पड़ेगा पछताना

- in अद्धयात्म

आपने अक्सर ही ऐसे कई लोगों को देखा होगा जिन्होने अपने गले में किसी तरह का कोई धागा या फिर ताज़ीज़ या माला आदि पहन रखी हो। कभी कोई हिन्दू तो कोई मुस्लिम या फिर किसी और धर्म आदि के लोग अपने अपने मजहब के अनुसार लॉकेट, माला आदि पहनते हैं, मगर यहाँ पर ध्यान देने वाली बात ये है की आखिर ये लोग इस तरह की माला आदि पहनते क्यों हैं, आखिर क्या होती है इसे पहनने की वजह। कुछ लोगों का ऐसा मानना है की जो भी लोग इस तरह की माला या ताबीज गले में तो पहन लेते हैं तो उनके लिए कई तरह के कार्य प्रतिबंधित हो जाते है। कौन से हैं वो कार्य इस सब के बारे में ही आज हम यहाँ पर आपको बताएँगे जिसके बारे में बहुत कम ही लोगों को जानकारी होती है।अगर गले में पहनते है माला या ताबीज़ तो जरूर पढ़ें ये खबर, वरना बहुत पड़ेगा पछताना

ऐसे बहुत से लोग होते हैं जो माला आदि पहन तो लेते हैं मगर सही तरह से जानकारी ना होने की वजह से माला या ताबीज पहनकर भी कुछ ऐसा गलत काम कर देते हैं जिसकी वजह से उन्हें काफी नुकसान उठाना पड़ता है। तो चलिये जानते हैं की माला और ताबीज गले में पहने रहने के दौरान वो कौन कौन से कार्य हैं जो नहीं करने चाहिए।

गले में है माला या ताबीज तो नहीं करना चाहिए ये काम

वैसे तो आपको बता दें की यदि आप चाहते हैं कि इस कलयुग में आपके जीवन में किसी तरह की परेशानी ना आए और आपके और आपके परिवार के ऊपर से तमाम सभी परेशानियां दूर रहें तो उस स्थिति में आपको चाहिए की आप हनुमान जी की ताबीज़ या हनुमान कवच का इस्तेमाल करें। आपकी जानकारी के लिए बताते चलें की हनुमान कवच पहनने से आपके ऊपर हमेशा बजरंग बाली की कृपा बनी रहती है और इसके रहते कोई भी आपको कुछ भी नहीं बिगाड़ सकता है।

इसके अलावा आपकी जानकारी के लिए बताते चलें की यदि आप अपने गले में माला या ताबीज पहनते हैं इसे काफी ज्यादा पवित्र माना जाता हा और इसे पहने रहने से तमाम तरह की बुरी शक्तियों का नाश होता है और सिर्फ इतना ही नहीं बल्कि इसे धरण करने से हमारा शरीर कई तरह के रोगों से मुक्त भी रहता है। यही वजह है की जो भी इसे अपने गले में पहनता है उसे खास निर्देश दिया जाता है की वो कोई भी गलत काम ना करें।

आपको यह भी बता दें की जो लोग गले में ताबीज या माला पहनते हैं वह कभी नहाते समय इसे पहने ना रहे। असल में बताया गया है की यह माला या ताबीज काफी ज्यादा पवित्र होती है और हम जब भी स्नान करते हैं टी उस दौरान शरीर का गंदा पानी इस पर से होकर गुजरता है जिसे अच्छा नहीं माना गया है और इसलिए कहा गया है की यदि आप माला या ताबीज आदि धारण किए हुए हैं तो कभी भी इस तरह की गलतियाँ ना करें।