अभी-अभी: गाजा तूफान ने तमिलनाडु में मचाई तबाही, 13 लोगों की मौत

अंदेशे और अलर्ट के बीच गाजा तूफान गुरुवार और शुक्रवार की दरमियानी रात करीब पौने दो तमिलनाडु के नागापट्ट‍नम पहुंच गया जहां उसने खूब तबाही मचाई. राज्य के मुख्यमंत्री के मुताबिक तूफान और बारिश में अब तक 13 लोगों की मौत हो चुकी है.

अभी-अभी: गाजा तूफान ने तमिलनाडु में मचाई तबाही, 13 लोगों की मौतगाजा तूफान के असर से हुए लैंडफॉल के दौरान वहां हवा की रफ्तार करीब 90-100 किमी प्रतिघंटा दर्ज की गई. तेज हवा और बारिश के कारण कई जगहों पर भारी नुकसान देखा गया. अब तक मिली जानकारी के अनुसार तूफान में 13 लोग की मौत हो गई है. राज्य सरकार ने मारे गए लोगों के परिजनों को 10-10 लाख का मुआवजा देने का ऐलान किया है.

गाजा तूफान ने बीती रात नागापट्टनम और वेदारणयम में दस्‍तक दी. गुरुवार शाम से ही तमिलनाडु के तटीय इलाकों में बारिश और तेज हवाओं का जोर रहा. तेज हवा के कारण नागापट्टनम में कई जगहों पर बड़े-बड़े पेड़ गिर गए. साथ ही कई घरों को काफी नुकसान भी पहुंचा.

वहीं, देर रात चेन्‍नई मौसम विभाग ने जानकारी दी थी कि गाजा समुद्र को पूरी तरह पार कर जमीन पर पहुंच जाएगा. इसके जमीन पर आने के साथ ही इसकी भीषणता समुद्र के ऊपर रहने के मुकाबले कुछ कम होगी और धीरे-धीरे इसमें बढ़ोतरी होगी.

बता दें कि गाजा के खतरे को देखते हुए अब तक करीब 60 हजार से ज्‍यादा लोगों को प्रदेश भर के छह जिलों में स्‍थित 331 राहत शिविरों में पहुंचाया जा चुका है.गाजा तूफान के गुरुवार देर रात दक्षिण तमिलनाडु तट पार करने का अंदेशा जताया गया था. जिन इलाकों से इसके गुजरने का अनुमान है, वहां हाई अलर्ट जारी कर दिया गया है.

मौसम विभाग के उप महानिदेशक एस बालाचंद्रन के मुताबिक, नागपट्टिनम और पड़ोस के पुडुचेरी में कराईकल से करीब 140 किलोमीटर दूर खाड़ी के ऊपर गुजर रहे तूफान के गुरुवार की रात कुड्डालोर और पामबन के बीच तट पार करने का अनुमान है, जिसके बाद यह कमजोर हो जाएगा.

कई इलाकों में भारी बारिश

तूफान के पहुंचने के दौरान इसकी रफ्तार 80-90 किलोमीटर प्रति घंटे तक रहने का अनुमान है. इसके बाद इसकी रफ्तार 100 किलोमीटर प्रति घंटे तक पहुंच सकती है. तूफान से पहले तमिलनाडु के कई इलाकों  में बारिश शुरू हो गई है, जैसा मौसम विभाग ने आशंका भी जताई थी.

NDRF की टीमें तैनात

नागपट्टिनम और अन्य जिले में निचले इलाके में रहने वालों को सुरक्षित स्थानों पर भेजा जा गया है. राष्ट्रीय आपदा मोचन बल (एनडीआरएफ) और राज्य बल की टीमों को तैनात किया गया है. समाचार एजेंसी भाषा के मुताबिक पुडुचेरी से मिली खबर के अनुसार मुख्यमंत्री वी नारायणसामी ने हालात से निपटने के लिए विभिन्न विभागों की तैयारियों की समीक्षा की है. कृषि मंत्री आर कमलक्कन नागपट्टिनम से 20 किलोमीटर दूर कराईकल में हैं. उन्होंने कहा कि चक्रवात से प्रभावित क्षेत्र में राहत केंद्र खोले गए हैं.

स्कूल-कॉलेजों में छुट्टी का ऐलान

नागपटि्टनम, तिरूवरूर, कुड्डालोर और रामनाथपुरम सहित सात जिलों में सभी स्कूल-कॉलेजों में छुट्टी घोषित कर दी गई है और सरकार ने निजी कंपनियों से अपने कर्मचारियों को जल्द वापस भेजने के लिए कहा है.

भारतीय नौसेना अलर्ट पर

भारतीय नौसेना को दक्षिण तमिलनाडु और पुडुचेरी के तटों की ओर बढ़ रहे गाजा चक्रवाती तूफान को देखते हुए हाई अलर्ट कर दिया गया. नौसेना अधिकारियों ने बताया कि पूर्वी नौसेना कमान (ईएनसी) ने आवश्यक मानवीय सहायता मुहैया कराने के लिए उच्चस्तरीय तैयारी की है.