अशुभ योगों में होगा चंद्रग्रहण, सावधान रहें मिथुन, तुला, मकर और कुंभ राशि के लोग

- in ज्योतिष

ज्योतिष डेस्क : आषाढ़ मास की पूर्णिमा (27-28 जुलाई की रात) को ख़ास चंद्रग्रहण होगा। यह पूरे देश में देखा जा सकेगा। ज्योतिषियों के अनुसार, खग्रास चंद्रग्रहण का ग्रह गोचर के अनुसार सभी राशियों पर अलग-अलग प्रभाव दिखाई देगा। चंद्रग्रहण के दिन विभिन्न अशुभ योगों के कारण प्राकृतिक आपदा से नुकसान भी हो सकता है। गोचर में मकर राशि के केतु के साथ चंद्रमा का प्रभाव और राहु से उसका समसप्तक दृष्टि संबंध होना साथ ही शनि व मंगल का वक्री होना अपने आप में विशेष घटना है। ग्रहण के ही दिन इस प्रकार के अशुभ योगों का बनना ज्योतिषीय दृष्टिकोण से अच्छा नहीं माना जाता है। इस ग्रहण के कारण प्राकृतिक आपदाओं की आशंका बढ़ेगी। सामुद्रिक तूफान की भी संभावना रहेगी। ख़ास चंद्रग्रहण उत्तरा आषाढ़ व श्रवण नक्षत्र तथा मकर राशि में होगा। इसलिए जिनका जन्म नक्षत्र उत्तरा आषाढ़ एवं श्रवण नक्षत्र व जन्म राशि व लग्न मकर है, उनके लिए विशेष अशुभ है। इसलिए ऐसे लोगों को चंद्रग्रहण के दौरान संभलकर रहना होगा। ये ग्रहण मेष, सिंह, वृश्चिक, मीन राशि वालों के लिए ठीक रहेगा। वृष, कर्क, कन्या, धनु राशि के लिए मध्यम फल देने वाला और मिथुन, तुला, मकर व कुंभ राशि वालों के लिए अशुभ रहेगा।