अस्थि कलश यात्रा पर आजम खान ने कसा तंज- अगर मुझे भी इतना सम्मान मिले तो आज ही मरना पसंद करूंगा

बड़े पैमाने पर पूर्व प्रधानमंत्री दिवंगत अटल बिहारी वाजपेयी के अस्थि विसर्जन के कार्यक्रम आयोजित किए जाने पर समाजवादी पार्टी के नेता आजम खान ने तंज कसा है. उन्होंने रविवार को कहा कि यदि उन्हें यह पता चल जाए कि मरने के बाद इतना सम्मान मिलता है तो वह आज ही मर जाना चाहेंगे.अस्थि कलश यात्रा पर आजम खान का तंज- इतना सम्मान मिले तो आज ही मरना पसंद करूंगा

असल में भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) ने वाजपेयी की अस्थियों को देश भर के 22 राज्यों और केंद्र शासित प्रदेशों में स्थित सौ प्रमुख नदियों में 95 स्थानों (शहरों) में विसर्जित करने का कार्यक्रम बनाया है. विसर्जन के कार्यक्रमों में भाजपा के नेता शामिल हो रहे हैं.  वाजपेयी की अस्थियों को अकेले उत्तर प्रदेश के 22 शहरों की नदियों में विसर्जित किया जा रहा है.  

कई राज्यों में ऐसे भी वाकये सामने आए जहां भाजपा के नेता विसर्जन कार्यक्रम के दौरान ठहाका लगाते हुए नजर आए. ठहाका लगाने से नाराज वाजपेयी की भतीजी करूणा शुक्ला ने दिवंगत भाजपा नेता के लिए आयोजित एक श्रद्धांजलि सभा के एक कथित वीडियो में हंसते नजर आ रहे छत्तीसगढ़ के दो मंत्रियों से इस्तीफा देने की मांग की है. वायरल वीडियो में 23 अगस्त को रायपुर में वाजपेयी के लिए आयोजित शोकसभा के दौरान मंच के सामने कृषि मंत्री बृजमोहन अग्रवाल और स्वास्थ्य मंत्री अजय चंद्रकार एक-दूसरे से बातचीत करते और हंसते हुए नजर आ रहे हैं.

इन घटनाओं पर प्रतिक्रिया जाहिर करते हुए आजम खान ने भाजपा पर तंज कसा. समाचार एजेंसी एएनआई के अनुसार उन्होंने कहा, ‘अगर किसी तरह मुझे यह पता चल जाए कि आदमी के मरने के बाद ज्यादा सम्मान मिलता है तो मैं आज ही मर जाना पसंद करूंगा.’

वाजपेयी का 16 अगस्त को निधन हो गया. लंबे समय से बीमार चल रहे 93 वर्षीय वाजपेयी जून महीने से ही नई दिल्ली के अखिल भारतीय आयुर्विज्ञान संस्थान (एम्स) में भर्ती थे. उन्हें इसी वर्ष जून में किडनी में संक्रमण और कुछ अन्य स्वास्थ्य समस्याओं की वजह से एम्स में भर्ती कराया गया था.