आखिरकार उत्तर कोरिया के तानाशाह को बदलनी पड़ी घड़ी की सुइयां, जानें क्यों

 दक्षिण कोरिया से सुलह की दिशा में एक कदम आगे बढ़ाते हुए उत्तर कोरिया ने कहा कि वह पांच मई से अपने देश का मानक समय दक्षिण कोरिया के साथ मिलाने जा रहा है. समाचार एजेंसी योनहाप के मुताबिक, दक्षिण कोरिया के राष्ट्रपति मून जे इन के साथ 27 अप्रैल को हुई ऐतिहासिक बैठक के दौरान किम जोंग उन ने कहा था कि उनका देश अपनी घड़ी की सुइयों को आधा घंटा आगे बढ़ाएगा. गौरतलब है कि दक्षिण कोरिया का मानक समय उत्तर कोरिया से आधा घंटा आगे है.आखिरकार उत्तर कोरिया के तानाशाह को बदलनी पड़ी घड़ी की सुइयां, जानें क्यों

उत्तर कोरिया ने अगस्त 2015 में अपने मानक समय को 30 मिनट पीछे कर दिया था. उस समय कहा गया था कि ऐसा कोरियाई प्रायद्वीप पर 1910-1945 के दौरान जापान के शासन के निशानों को हटाने के लिए किया गया है. इससे पहले दोनों कोरियाई देशों में एक समान मानक समय था.

उत्तर कोरिया की संसद के सुप्रीम पीपुल्स असेंबली की स्थाई समिति ने दक्षिण कोरिया के मानक समय से देश के मानक समय को सिंक्रोनाइज करने के लिए एक समझौते को मंजूरी दी है, जो इस शनिवार से प्रभावी हो रहा है. किम जोंग ने कहा कि दक्षिण कोरिया के मानक समय को उत्तर कोरिया के अनुकूल करना राष्ट्रीय सुलह और एकता की ओर बढ़ाया गया पहला प्रायोगिक कदम है.

समाचार एजेंसी योनहाप के मुताबिक, वांग को प्योंगयांग में 27 अप्रैल को दक्षिण कोरिया के राष्ट्रपति मून जे इन और उत्तर कोरिया के सर्वोच्च नेता किं जोंग उन के बीच हुए ऐतिहासिक सम्मेलन के नतीजों को लेकर सूचित किया जा सकता है. इसके साथ ही किम जोंग और डोनाल्ड ट्रंप के बीच आगामी बैठक की रणनीतियों पर भी चर्चा की जा सकती है. वांग के उत्तर कोरियाई दौरे के दौरान चीन के राष्ट्रपति शी जिनपिग के उत्तर कोरियाई दौरे पर भी चर्चा हो सकती है, जो जून में होने की संभावना है.