इन विशेष मन्त्रों से करें अपने घरवालों को लव मैरिज के लिए तैयार…

दुनिया में कई ऐसे लोग हैं जो प्रेम विवाह करना चाहते हैं. ऐसे में युवावस्था में हर किसी के मन में किसी को लेकर आकर्षण होता है और कब वह आकर्षण प्यार में बदल जाता है किसी को पता ही नहीं चलता. ऐसे में आज के समय में अगर जात देखकर प्यार किया जाए तो ठीक है वरना बहुत परेशानियां होती है. जी हाँ, किसी का प्यार आसानी से पूरा हो जाता है जिसमें घर वाले आसानी से मान जाते हैं तो किसी का प्यार घर के सदस्य ही स्वीकार नहीं करते हैं और कुंड़ली के कुछ ऐसे योग है जो प्रेम विवाह की सफलता व असफलता के लिए उत्तरदायी माने जाते हैं. जी हाँ, इस कारण से ईश्वरीय आराधना से प्रेम विवाह में आ रही परेशानी को दूर कर सकते हैं और आज हम आपको बताने जा रहे हैं प्रेम विवाह में सफलता के लिए आपको किन दो मन्त्रों का जाप करना चाहिए. आइए जानते हैं.

अगर आप किसी से प्यार करते हैं और उसके लिए मन में सही विचार रखते हैं तो अपने प्यार को पाने के लिए इस मंत्र का जाप करेंगे तो प्यार में आसानी से सफलता मिलेगी. मंत्र – ”ॐ लक्ष्मी नारायणाय नमः”. कहते हैं इस मंत्र का जाप शुरू करने से पहले भगवान विष्णु और माँ लक्ष्मी की मूर्ति को सामने रखें और मंत्र का जाप स्फटिक माला से करें. अब इस मंत्र का जाप शुक्ल पक्ष के गुरुवार के दिन से करें और ऐसा करने से आपको प्यार आपकी ओर आकर्षित होगा. इसी के साथ आप जिससे प्रेम विवाह करना चाहते है, तो पहले अपने प्रेमी या प्रेमिका का ध्यान मन में करते हुए, भगवान श्रीकृष्ण की आराधना इस मंत्र के जाप से करें.

मंत्र – ”केशवी केशवाराध्या किशोरी केशवस्तुता, रूद्र रूपा रूद्र मूर्ति: रूद्राणी रूद्र देवता.” कहा जाता है इस मंत्र का जान 108 बार नियमित करने से सफलता मिलेगी और हर शुक्रवार के दिन आप राधा-कृष्ण की प्रतिमा के सामने बैठकर ऊपर बताए मंत्र का 108 बार जाप करें.