इन 2 मुस्लिम क्रिकेटरों ने इस्लाम को छोड़ अचानक अपनाया था बौद्ध धर्म

- in खेल

दुनिया में ऐसे ऐसे खिलाडी हुए है जिन्होंने अपनी प्रतिभा से अपना तथा अपने देश का नाम रोशन किया है! आज के दौर में क्रिकेट एक ऐसा खेल है जो बहुत ही ज्यादा लोकप्रिय हो गया है, इसके अलावा क्रिकेट जगत के गलियारे में बहुत ऐसे राज छुपे है जो शायद ही किसी भी व्यक्ति को पता हो! कुछ तो राज ऐसे है जो शायद ही किसी को पता हो!
 इन 2 मुस्लिम क्रिकेटरों ने इस्लाम को छोड़ अचानक अपनाया बौद्ध धर्म
आज हम आपको क्रिकेट जगत के दो ऐसे धुरंधरो के बारे में बताने जा रहे है जिन्होंने मुस्लिम धर्म को छोड़कर बौध धर्म को अपना लिया है! क्रिकेट का खेल बहुत ही रोमांचक होने लगा है जब से टी-20 फार्मेट आया है तब से क्रिकेट के क्रेज और भी अधिक बढ़ गया है!

1-सूरज रणदीव सिंह-33 वर्षीय सूरज रणदीव् ने 2009 में क्रिकेट जगत में डेब्यू किया था! इन्होने क्रिकेट के तीनो फार्मेट में बहुत ही बढ़िया प्रदर्शन किया है! और अपने देश का नाम रोशन किया है! रणदीव ने श्री लंका के लिए 12 टेस्ट,31 वनडे,और 7 टी-20 मैच खेले है! और इस दौरान इन्होने क्रमशः 43 विकेट,36 विकेट और 7 विकेट लिए है! आपको हम बता दे कि पहले सूरज रण दीप मुसलमान हुआ करते थे इनके पिता का नाम मोह.सूरज हुआ करता था, बाद में इन्होने बौध धर्म अपना लिया था!

2-तिलकरत्ने दिलशान-दिलशान को किसी भी परिचय की जरुरत नहीं है इनकी गिनती श्रीलंका के बेहतरीन बालरो में होती है! क्रिकेट में रूचि रखने वाला हर व्यक्ति तिलक रत्ने दिलशान को जानता है! दिलशान ने श्रीलंका के मैच खेलकर श्री लंका के लिए कई सारे रिकार्ड भी बनाए है! लेकिन दिलशान के फैन्स उनके बारे में बात शायद नहीं जानते होंगे कि दिलशान पहले मुस्लिम हुआ करते थे लेकिन बाद में इन्होने मुस्लिम धर्म को छोड़कर बौध धर्म को अपना लिया था!

2-तिलकरत्ने दिलशान-दिलशान को किसी भी परिचय की जरुरत नहीं है इनकी गिनती श्रीलंका के बेहतरीन बालरो में होती है! क्रिकेट में रूचि रखने वाला हर व्यक्ति तिलक रत्ने दिलशान को जानता है! दिलशान ने श्रीलंका के मैच खेलकर श्री लंका के लिए कई सारे रिकार्ड भी बनाए है! लेकिन दिलशान के फैन्स उनके बारे में बात शायद नहीं जानते होंगे कि दिलशान पहले मुस्लिम हुआ करते थे लेकिन बाद में इन्होने मुस्लिम धर्म को छोड़कर बौध धर्म को अपना लिया था!