इसको आलू समझ के महिला ले आयी अपने घर, जब सच्चाई जानी तो डर के मारे…..

- in राष्ट्रीय

नई दिल्ली: यह दुनिया बहुत बड़ी और अजीबो-ग़रीब लोगों से भरी हुई है। इस दुनिया में आपको हर तरह के लोग देखने को मिल जाएँगे। यहाँ कुछ बहुत ही अच्छे लोग भी रहते हैं तो वहीं कुछ बहुत बुरे लोग भी रहते हैं। कुछ ईमानदार लोग रहते हैं तो वहीं समाज में कुछ ऐसे लोग भी हैं जो नज़र हटते ही सामान ग़ायब कर देते हैं। कुछ कम में ही जीवन यापन करने वाले लोग होते हैं तो कुछ लोगों की इच्छाएँ असीमित होती हैं।

हर इंसान के अंदर इच्छाएँ होती हैं, लेकिन कुछ लोगों की इच्छाओं का कभी अंत नहीं होता है। उन्हें जितना भी मिल जाए, उसके लिए काम ही पड़ता है। अक्सर आपने कई लोगों को देखा होगा जो रास्ते पर मिली चीज़ को तुरंत उठाकर अपने घर ले आते हैं। कई बार लोगों को उनकी इस आदत की वजह से भारी नुक़सान भी उठाना पड़ता है। जी हाँ यह भले ही उतनी बड़ी बात ना लगती हो लेकिन कई बार लोगों की यह आदत उनके लिए जानलेवा भी साबित हो जाती है।

सही कहा जाता है कि लालच और अधूरी जानकारी हमेशा लोगों के लिए मुसीबत खड़ी कर देती है। हाल ही में एक ऐसा मामला लंदन में देखा गया है। आपकी जानकारी के लिए बता दें कि लंदन के नॉटिंघम में एक महिला को थोड़ी सी लालच करना बहुत ही महँगा पड़ गया। लेकिन अच्छी बात यह रही कि कोई बड़ी अनहोनी होने से पहले ही सबकुछ ठीक हो गया। हुआ ये कि 30 साल की टैरी ज़ेड अपने कुत्ते को घुमाने के लिए बाहर गयी हुई थीं। टैरी अपने कुत्ते के साथ एक कच्चे रास्ते से गुज़र रही थीं। इसी बीच उनके कुत्ते ने रास्ते को खोदकर एक बड़ी ही अजीब चीज़ बाहर निकाली।

कुत्ते द्वारा निकाली गयी चीज़ को महिला ने एक बड़ा आलू समझ लिया और वो उसे उठाकर अपने घर ले आयी। लेकिन जब महिला ने घर आने के बाद आलू की सच्चाई जानी तो डर के मारे उसकी चीख़ें निकल गयी। ख़बरों के अनुसार उस आलू जैसी चीज़ को घर लाने के बाद टैरी नहाने के लिए बाथरूम में चली गयी। थोड़ी डर बाद उसका बॉयफ़्रेंड आया और उसने आलू जैसी दिखने वाली चीज़ को देख लिया। उसने उस चीज़ को देखते ही टैरी को ज़ोर से आवाज़ लगायी और उसे बाथरूम से बाहर आने के लिए कहा।

आपकी जानकारी के लिए बता दें कि टैरी जिस चीज़ को आलू समझकर अपने घर ले आयी थी, वह कोई साधारण चीज़ नहीं बल्कि एक हैंड ग्रेनेड था। इसकी जानकारी मिलने के बाद तुरंत उसने ग्रेनेड को घर से बाहर निकाला और पुलिस को फ़ोन किया। पुलिस ने मौक़े पर पहुँचकर जाँच की तो पता चला कि यह एक प्रैक्टिस ग्रेनेड है। इसके बाद सेना के बम दस्ते ने इसे अपने क़ब्ज़े में ले लिया। पुलिस ने बताया कि इसमें हालाँकि काम बारूद होता है, लेकिन इसके फटने से भी काफ़ी नुक़सान हो सकता है। यह बम टैरी को मारने के लिए काफ़ी था।