इसे पढ़कर यकीन हो जायेगा…बीवी है आपकी, मगर व्हाटस ऐप पर मजे लूट रहा कोई ओर

- in जीवनशैली

पत्नियों का मोबाइल, सोशल मीडिय़ा, वाट्सअप, फेसबुक पर अधिक देर तक बने रहने शौक पतियों के लिए सिरदर्द बन गया है। हालात यह है कि बंदिशें लगाने पर पति-पत्नी में आपसी झगड़े बढ़ रहे है। जिसके चलते परिवार में बिखराव पैदा हो रहा है। झगड़े की वजह से घर टूटने लगे है। इतना ही नहीं इस तरह के मामले पुलिस के पास पहुंचे। फिर वे परिवार परामर्श केंद्र में। मोबाइल के शौक से परिवारों के टूटने की संख्या करीब तीन हो गई है। पुलिस के मुताबिक नाराज पत्नियां, पतियों पर गुस्सा हो जाती है। दोनों के बीच झगड़े होने लगते है। नौबत मारपीट तक आ जाती है।

एक युवक की करीब 4 साल पहले शादी हुई थी। इस दौरान वह रात-रात भर मोबाइल पर बात किया करती थी। एक दिन उसने अपनी पत्नी का व्हाटस ऐप चैक किया तो पता चला कि उसकी पत्नी ने अपने बिना कपडो वाले फोटो किसी युवक को सेंड किये हुए। इसके अलावा इस वीडियो भी मिला जिसे देखकर पति के होश ही उड गये।

वीडियो में उसकी पत्नी अपने कपडे उतार रही थी। ये वीडियो भी उसी शख्स को सेंड किया गया था। यह बात पति को नागवार गुजरी। पत्नी को मोबाइल पर बात करने की पाबंदी लगा दी। जिसके बाद दोनों के बीच विवाद शुरू हो गया। विवाद इतना बढ़ गया की पत्नी गुस्सा होकर मायके चली गई। कई माह तक लौट कर नहीं आई। इसके बाद मामला परिवार परामर्श केंद्र पहुंचा। यहां पर काउंसिलिंग हुई। दोनों को कानून के बारे में जानकारी दी गई। साथ ही समझौता कराया गया।

कंचनपुर निवासी का युवक विवाह फरवरी माह में हुआ था। कुछ दिनों तक तो दोनों के बीच मधुर संबंध रहे, लेकिन एक माह बाद ही बात-बात पर विवाद होने लगा। दो महीने के भीतर ही बात तलाक तक पहुंच गई और रेणुका ने इंद्रेश के खिलाफ मारपीट, प्रताडऩा का मामला तक दर्ज करा दिया। दरअसल इंद्रेश और रेणुका के बीच मोबाइल पर बात करने को लेकर विवाद होता था। रेणुका घर के सारे काम छोड़कर मोबाइल पर व्यस्त रहा करती थी। बेडरूम में भी वह अपने दोस्तों से चैट करती रहती थी। जिस पर इंद्रेश उसे टोका करता था। रेणुका को ये बात नागवार गुजरी और उसने मायके जाने का फैसला कर लिया। ये मामला केवल एक बानगी बस है, असल बात तो यह है कि स्मार्टफोन और डाटा उपलब्ध कराने वाली कंपनियां इन दिनों एक से बढ़कर एक ऑफर निकाल रही हैं। जिससे लोगों को इंटरनेट के साथ अधिक से अधिक कॉलिंग की सुविधा मिल सके। लेकिन कंपनियों का ये ऑफर परिवारों में दरारें भी डाल रहा है। कुछ ऐसे ही मामले इन दिनों सामने आए, जहां मोबाइल के कारण बात तलाक तक पहुंच गई है। पत्नियों को मोबाइल शौक परिवारों के लिए कलह बनता जा रहा है।

7 साल पहले एनकेजे निवासी युवक की सतना निवासी युवती से शादी हुई थी। शादी के कुछ दिन तक तो ठीक-ठाक रहा। इस दौरान फेसबुक पर महिला की एक युवक से दोस्ती हो गई। फेसबुक के माध्यम से दोनों ने एक-दूसरे को मोबाइल नंबर का आदान प्रदान किया। इसके बाद दोनों के बीच बात शुरू हो गई। मामला प्रेम संबंध तक पहुंच गया। यह बात पति को पता चल गई। उसने पत्नी के मोबाइल फोन के उपयोग पर रोक लगा दी। जिस वजह से दोनों के बीच झगड़े होना शुरू हो गए है। परिवार में बिखराव हो गया। मामला कांउसिलिंग केंद्र पहुंचा। दोनों के बीच समझौते की कोशिश की गई, लेकिन बात नहीं बनी। महिला के दो बच्चे भी है। दोनों बच्चों को छोड़कर वह मायके चली गई।