इस 8वीं पास लड़की से थरथर कांपते थे पुलिस वाले, फिर खुला ऐसा राज कि उड़ गए सबके होश

- in अपराध

फीचर्ड डेस्क: आमतौर पर पुलिस वालो का काम होता हैं कि आम जनता के साथ होने वाली ठगी या धोखाधड़ी को रोके और असली मुरजिम को पकड़ के सलाखों के पीछे डाले. शायद यही वजह हैं कि ये ठग बदमाश लोग पुलिस वालो का नाम सुनते ही थरथर कांपने लगते हैं. लेकिन क्या आप ने कभी ऐसा सुना हैं कि कोई अपराधी खुद पुलिस वालो को ही चुना लगा गया. और इतना ही नहीं जब वो उन्हें चुना लगा रहा था तो पुलिस वालो के चेहरे पर उसका खौफ साफ़ देखा जा सकता था. इससे भी दिलचस्प बात ये हैं कि जिस शख्स ने पुलिस के साथ ये धोखाधड़ी की हैं वो कोई पुरुष नहीं बल्कि 8वीं पास एक महिला हैं. हैरानी कि बात तो यह हैं कि महिला कई पुलिस वालो को करीब 10 सालो तक चुना लगाती रही. आइए विस्तार से जाने क्या हैं पूरा मामला…

इस 8वीं पास लड़की से थरथर कांपते थे पुलिस वाले, फिर खुला ऐसा राज कि उड़ गए सबके होशदरअसल ये पूरी घटना मध्य प्रदेश के शहर इंदौर की हैं. यहाँ एक 27 वर्षीय महिला करीब 10 सालो तक एडीजी की बहन बनकर सब पर रौब जमाती रही. आलम ये था कि 8वीं पास इस युवती के इशारों पर सीएसपी से लेकर टीआई नाचने को मजबूर हो जाते थे. अपने 10 साल की धोखाधड़ी के दौरान ये महिला कई पुलिस अधिकारीयों के कांटेक्ट में रही. उसे जब भी इन लोगो से कोई काम निकलवाना होता था तो ये एडीजी की बहन बनने का ढोंग करती और उन्हें डरा धमका कर अपना काम निकलवा लेती. सिर्फ इंदौर ही नहीं बल्कि उज्जैन और भोपाल में भी इस महिला को वीआईपी ट्रीटमेंट मिलने लगा.

एडीजीपी अजय शर्मा ने इस मामले पर रौशनी डालते हुए बताया कि सोनाली शर्मा नाम की ये महिला इंदौर के मरीमाता चौराहा स्थित पुलिस ऑफिसर मेस में पिछले 10 सालो से काफी एक्टिव हैं. यहाँ ये महिला खुद को इंदौर रेंज के अतिरिक्त पुलिस महानिदेशक (एडीजीपी) की छोटी बहन बतलाकर रह रही थी. दरअसल इसकी शुरुआत तब हुई जब सोनिया सबसे पहले 2008 में रिटायर्ड डीजी लोकायुक्त कापदेव के रिफरेंस पर उनकी बेटियों के साथ ऑफिसर मैस में कुछ दिन रुकी थी. सोनिया ने इस मौके का फायदा उठाते हुए सभी पुलिस वालो से अच्छी जान पहचान बना ली. कुछ दिनों बाद सोनिया ने खुद को उनका रिश्तेदार बताया और धीरे धीरे इस बात का फायदा उठाने लगी.

हद तो तब हो गई जब सोनिया ने कई बड़े अधिकारीयों के साथ संबंध बना लिए और रौब जमा कर कई तबादले और पोस्टिंग करवा दी. यहाँ तक कि उसने पुलिस वालो से गाड़ी और गनमैन जैसी सुविधाएं भी ले रखी थी. हालाँकि सोनिया कि पोल तब खुली जब वो अपने केरेक्टर में कुछ ज्यादा ही घुस गई और पुलिस वालो पर हद से अधिक रौब जमाने लगी. इस पर कुछ अधिकारीयों को शक होने लगा. उन्होंने जब एडीजी से इस बारे में पूछा तो पता चला कि उनकी तो कोई बहन हैं ही नहीं. बस फिर क्या था सच्चाई का पता चलते ही पुरे पुलिस महकमे में हड़कंप मच गया.

महिला की पोल खुलने के बाद उसे मंगलवार देर रात उसके बॉयफ्रैंड कृष्णा राठौर सहित गिरफ्तार किया गया. मूल रूप से होशंगाबाद की रहने वाली सोनिया शर्मा ने कई बड़े नेताओं और अफसरों से संपर्क होने का दावा किया हैं. सुनने में तो ये भी आया हैं कि उसने हाल ही में अपनी प्लास्टिक सर्जरी भी कराई थी.