ईश्वर राहुल गांधी को सद्बुद्धि दे, जिससे वह राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के कार्यक्रम ले सकें हिस्सा : साक्षी महाराज

लखनऊ : भाजपा सांसद साक्षी महाराज ने कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी को नसीहत दी है कि वे संघ की राष्ट्रीयता और देशभक्ति को समझने के लिये मोहन भागवत के कार्यक्रम में शरीक हों। राहुल की ओर से आरएसएस की तुलना मुस्लिम ब्रदरहुड से करने पर साक्षी महाराज ने नाराजगी जाहिर की और कहा कि संघ देश को जोड़ता है, तोड़ता नहीं। साक्षी महाराज ने कहा, मुझे लगता है कि राहुल गांधी हो या दूसरे दल के नेता हो, संघ की विचारधारा को सुनने समझने के लिये ‘संघ’ के पास जाना ही पड़ेगा। वहां जाने से दो लाभ होने वाले हैं, आप सलीके से अपनी बात रखेंगे, सलीके से उनकी बात सुनेंगे, तभी पूरी बात समझ में आने वाला है। बीजेपी सांसद ने कहा कि अब राहुल गांधी को देखिये वे मंदिर-मंदिर घूम रहे हैं, शिव भक्त बन रहे हैं, कहीं जनेऊ दिखा रहे हैं, आप जो कुछ भी हैं, एक बार संघ के कार्यक्रम में जाएं, वहां अपनी बात रखनी चाहिए। उन्होंने कहा कि मैं चाहता हूं कि भगवान राहुल गांधी को सद्बुद्धि दे ताकि वे आरएसएस के कार्यक्रम में पहुंचें अभी भी दो दिन का कार्यक्रम बचा हुआ है। इस देश में आरएसएस ही ऐसा संगठन है, जिसने देश को जोड़ कर रखा है, अगर आरएसएस नहीं होता तो देश कब का टूट गया होता। इस देश को तोड़ने का काम तो कांग्रेस ने किया। इस देश के 3 टुकड़े करा दिया, आरएसएस ने केवल देश को जोड़ने का काम किया है, तोड़ने का नहीं। साक्षी ने उम्मीद जताई कि चुनाव से पहले राम मंदिर का निर्माण शुरू हो जायेगा। साक्षी महाराज ने कहा, मेरा तो राजनीति में आना ही मंदिर के कारण हुआ, अगर मंदिर नहीं बनेगा तो राजनीति में रहने का औचित्य क्या है। 2019 के लोकसभा चुनाव से पहले राम मंदिर का निर्माण शुरू हो जायेगा। जो सुनवाई करके सुप्रीम कोर्ट ने निर्णय सुरक्षित रख लिया है, मैं जज साहब से आग्रह करूंगा कि जो सुरक्षित निर्णय करके रखा है, उसे शीघ्र से शीघ्र सुना दें, ताकि मंदिर निर्माण का काम प्रारम्भ हो जाये, क्योंकि बहुत जल्द ही इलाहाबाद में महाकुंभ होने वाला है। साधु, सन्यासी फिर कोई निर्णय लेंगे। कोई स्थित बनेगी, करोड़ों लोगों की आस्था का प्रश्न है, इसे यूं ही छोड़ा नहीं जा सकता। साक्षी महाराज ने महागठबंधन को एक ख्याली पुलाव करार दिया है। उन्होंने कहा, जिसे महागठबंधन कहा जा रहा है वह माहठगबंधन है। मेढ़कों को एक तराजू में तौला नहीं जा सकता, कोई महागठबंधन नहीं बनने वाला। मायावती ने भी कहा की सम्मानजनक सीटें मिलेंगी तब सोचेंगी, मेरा मानना है कि यह बनने से पहले ही महागठबंधन तार-तार हो जायेगा।

सभी बॉलीवुड तथा हॉलीवुड मूवीज को सबसे पहले फुल HD Quality में देखने के लिए यहाँ क्लिक करें