उत्तर प्रदेश में तीन दिन से हो रही बारिश, कई इलाके जलमग्न, चेतावनी जारी

लखनऊ : राजधानी में मानसून ने भले ही विलंब से दस्तक दी हो, लेकिन दस जुलाई तक औसत बारिश का कोटा लगभग पूरा हो गया है। लखनऊ में अब मात्र तीन फीसदी और प्रदेश में नौ फीसदी बारिश ही औसत से कम रह गई है। उधर, मौसम विभाग ने अगले तीन दिन में लखनऊ समेत प्रदेश में कुछ जगहों पर भारी बारिश की सम्भावना जताई है। राजधानी में हो रही लगातार बारिश के चलते बारिश की कमी काफी हद तक पूरी हो गई है। दस जुलाई तक शहर में सामान्य स्थिति में 148.4 मिमी वर्षा होनी चाहिए थी, जिसके सापेक्ष 143.9 मिमी बारिश अब तक हो चुकी है। यह औसत से मात्र तीन फीसद कम है। राज्य में अब तक 167.5 मिमी औसत बारिश होनी चाहिए थी। इसके मुकाबले 151.8 मिमी बारिश हुई है, जो नौ फीसदी कम है। पूर्वानुमान के अनुसार गुरुवार को आसमान में बादल छाए रहेंगे और दो-चार बार जोरदार बारिश हो सकती है। बारिश के चलते तापमान सामान्य से पांच डिग्री कम 29.2 डिग्री सेल्सियस रिकार्ड किया गया। इससे पहले मंगलवार को अधिकतम तापमान 30.7 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया था। पूर्वी उत्तर प्रदेश में कम दबाव का क्षेत्र बना हुआ है। वहीं, एक टर्फ लाइन भी गुजर रही है। इसके चलते सूबे के कई स्थानों पर भारी बारिश की चेतावनी दी गई है। पीलीभीत, प्रयाग, चंदौली, वाराणसी, कौशांबी, मऊ, फैजाबाद, रायबरेली, गोंडा, बलरामपुर, श्रावस्ती, बहराइच, रामपुर, लखीमपुर खीरी, मुरादाबाद, संत कबीर नगर, पलिया, गोरखपुर, बिजनौर, बांदा, चित्रकूट, फतेहपुर, हमीरपुर, जालौन, झांसी, प्रतापगढ़, सुलतानपुर, आजमगढ़, अंबेडकरनगर, देवरिया, बरेली, कुशीनगर में भारी बारिश की सम्भावना जताई गयी है।