एयर एशिया ने एयर इंडिया में हिस्सेदारी के लिए किया इंकार

- in व्यापार

बजट एयरलाइन कही जाने वाली एयरलाइन एयर एशिया  इंडिया ने एयर इंडिया की हिस्सेदारी लेने से ना कर दिया है. एयर एशिया का कहना है कि हमारी एयरलाइन का फोकस हाल फ़िलहाल मौजूदा ब्रांड को प्रमोट कएने और इंटरनेशनल फ्लाइट्स पर है. यदि एयर एशिया हिस्सेदारी में तैयारी हो जाती तो एयर इंडिया की इंटरनेशनल फ्लाइट्स इसी साल से शुरू हो जाती लेकिन इसके लिए अब एयर इंडिया को एक साल और छ नहींए का इंतज़ार करना पड़ेगा. एयर इंडिया एयरलाइन को यह उम्मीद है कि उसकी आने वाले साल 2019  में इंटरनेशनल फ्लाइट्स जल्द ही शुरू होगी. एयर एशिया ने एयर इंडिया में हिस्सेदारी के लिए किया इंकार

आपको बता दें कि एयर एशिया टाटा और मलेशिया के ग्रुप एयर एशिया का 51 :49  के कोलब्रेशन में है.  इससे पहले एयर लाइन ने इसी साल के दूसरे क्वार्टर में अपनी इंटरटनेशनल फ्लाइट को शुरू करने का प्लान बनाया था. लेकिन ऐसा हो नहीं सका. एयर एशिया के मैनेजिंग डायरेक्टर और चीफ एग्जीक्यूटिव अमर का कहना है कि एयरलाइन को इसी साल के आखिर तक अपने विमानों की संख्या 21  तक पहुंचने की उम्मीद है. इसके बाद यह इंटरनेशनल फ्लाइट के लायक हो जाएगी. नए नियम के मुताबिक वही एयरलाइन इंटरनेशनल फ्लाइट्स का ऑपरेशन कर सकती है जिनके विमानों की संख्या 20 हो.