ऐसी स्त्रियों से दूर ही रहें, वरना ये कर सकती है आपका सर्वनाश

- in अद्धयात्म

आचार्य चाणक्य ने जीवन में आनंद, सुख, विजय, सौभाग्य, संपत्ति और संपन्नता का उपभोग करने के लिए बहुत सी नीतियां बतलाई हैं। उनके द्वारा रचित नीति के अनुसार वह स्त्री के चरित्र पर रोशनी डालते हुए बताते हैं की कैसी स्त्री किसी का भी सर्वनाश कर सकती है।

यदि कोई पुरुष चरित्रहीन स्त्री के आकर्षण में बंध कर अपनी सारी धन-दौलत उसके सुपुर्द कर देता है तो भी वह स्त्री उसकी कभी नहीं हो सकती। बदले में उसे कष्ट ही भोगने पड़ेंगे। चरित्रहीन स्त्री कभी भी एक पुरूष की होकर नहीं रह सकती। वह अगर सच्चा प्रेम करती है तो केवल और केवल धन से। जिस पुरूष के पास धन है वह उस पर ही अपना प्रेम लुटाएगी। धन समाप्त होते ही उसका प्रेम भी समाप्त हो जाएगा।

अत:  बुद्धिमान पुरुषों को ऐसी स्त्रियों से बचना चाहिए और उन पर अपना धन बर्बाद नहीं करना चाहिए। जहां एक और स्त्री की शक्ति व सम्मान जीवन सुधार सकते हैं, तो गलत आचरण बर्बाद भी कर सकते हैं। बुद्धिमान व सुशील स्त्री घर का सौभाग्य बन जाती है यानी ऐसी स्त्री घर-परिवार के लिए शुभ व लाभ का कारण बनती है, वहीं इसके उलट आचरण दु:ख-दरिद्रता की वजह भी बन जाती है ।