कतर ने जारी की रिपोर्ट, न्यूज एजेंसी की वेबसाइट हुई थी हैक

कतर ने अपनी सरकारी समाचार एजेंसी की कथित हैकिंग के बारे में एक शुरुआती रिपोर्ट जारी की है. हैकिंग की इस घटना ने ऊर्जा संपन्न देश कतर और अरब देशों के बीच राजनयिक संकट को भड़का दिया है. कतर के गृह मंत्रालय ने बुधवार देर रात कहा कि शुरुआत में कतर न्यूज एजेंसी (क्यूएनए) की वेबसाइट को उच्च तकनीकों और नए तरीकों से अप्रैल में हैक किया गया था.
कतर ने जारी की रिपोर्ट, न्यूज एजेंसी की वेबसाइट हुई थी हैकमंत्रालय ने कहा कि हैकरों ने एक फाइल इंस्टॉल की और फिर कतर के अमीर शेख तमीम बिन हम्माद अल थानी के हवाले से एक फर्जी खबर प्रकाशित कर दी. यह खबर 24 मई की मध्यरात्रि के ठीक बाद प्रकाशित की गई. मंत्रालय ने यह नहीं कहा कि साइबर हमले का संदिग्ध कौन है. मंत्रालय ने जांच में मदद के लिए एफबीआई और ब्रिटिश नेशनल कमीशन का शुक्रिया भी अदा किया.

इस कथित फर्जी खबर में शेख तमीम ने ईरान और इजराइल को लेकर विवादित टिप्पणियां की थीं. इस खबर को सउदी और एमिराती मीडिया ने तत्काल उठा लिया था. इसके साथ ही सोमवार को यह संकट शुरु हो गया.