कभी भी नई जॉब के लिए ना बोले ये झूठ, यहां फंस सकता है मामला है…

- in कैरियर

जॉब के लिए अप्लाई करते वक्त हम अक्सर हड़बड़ाहट में होते हैं. इस दौरान जाने-अनजाने में हम कई गलतियां कर बैठते हैं. कई बार अपनी बारे में बढ़- चढ़कर भी बता देते हैं… जो बाद में भारी पड़ जाता है.  लोग अपने CV में और इंटरव्यू के दौरान ऐसी बहुत सी गलतियां कर देते हैं, जिनका खामियाजा उन्हें भुगतना पड़ता है. इसलिए खुद को ज्यादा स्मार्ट ना समझें. कोई भी कंपनी आपको लेने से पहले आपका पूरा वेरिफिकेशन कराएगी. जॉब के लिए अप्लाई करने से पहले इन बातों का खास ख्याल रखें-कभी भी नई जॉब के लिए ना बोले ये झूठ, यहां फंस सकता है मामला है...

झूठ ना बोलें

जॉब के लिए आवेदन करते समय कभी भी फर्जी सर्टिफिकेट, एम्प्लॉयमेंट लेटर और सैलरी स्लिप ना दिखाएं. अगर आप ऐसा करते हैं और आपके बॉस को पता चल गया तो आप नौकरी से तो हाथ धो ही बैठेंगे साथ ही आपके खिलाफ कानूनी कार्रवाई भी हो सकती है.

इसलिए अगर आपको नौकरी की जरूरत है तो कोई रिस्क ना लें और सरल और सहज रहें. अपने CV में भी गलत जानकारी देने और अपने अनुभव को जरूरत से ज्यादा बताने से बचें.

ये वेरिफिकेशन कैसे होते हैं?

पता वेरिफिकेशन

आपने अपने CV में जो पता दिया है, आपकी कंपनी वहां जा कर आपके बारे में पता लगवा सकती है. आपके घर के आस-पास के लोगों से आपके बारे में फीडबैक ले सकती है. ऐसे में झूठ बोलना आप पर भारी पड़ सकता है.

एजुकेशनल वेरिफिकेशन

आपने जिस इंस्टीट्यूट से डिग्री या डिप्लोमा लिया है, वहां आपके प्रमाण पत्रों को भेजकर आपके डॉक्यूमेंट्स को भी वेरिफाई कराया जा सकता है.

पिछली कंपनी का वेरिफिकेशन

आपने पहले जहां काम किया है, आपका मालिक वहां ई-मेल या फोन के माध्यम से वहां संपर्क करता है और आपके बारे में जानकारी हासिल कर सकता है. आपने जॉब क्यों छोड़ी, आपका व्यवहार वहां कैसा था- इन सब बातों का पता आपका मालिक जरूर करवा सकता है.