कश्मीर की मुख्यमंत्री महबूबा मुफ्ती की अपील इस खून-खराबे को रोकें…

जम्मू कश्मीर पिछले कई सालो आतंक की दशहत में पल रहा है, अभी पिछले 50 घंटो में ही लगातार तीन आतंकी हमले किये गए. लश्कर ने जम्मू के सुंजवां के बाद सोमवार सुबह श्रीनगर के सीआरपीएफ हेडक्वार्टर पर भी हमले किये. लगातार हो रहे आतंकी हमलों पर जम्मू-कश्मीर की मुख्यमंत्री महबूबा मुफ्ती बेहद चिंतित है उन्होंने पाकिस्तान भारत की बातचीत पर जोर दिया, दूसरी तरफ पूर्व सीएम फारुक अब्दुल्ला ने पाकिस्तान पर प्रहार करते हुए बयान दिया.कश्मीर की मुख्यमंत्री महबूबा मुफ्ती की अपील इस खून-खराबे को रोकें...

मुफ्ती ने ट्वीट कर अपील की है कि अगर हमें इस खून-खराबे को रोकना है तो पाकिस्तान के साथ बातचीत करना जरूरी है. उन्होंने लिखा कि मुझे पता है कि शाम तक मेरे इस बयान पर मुझे एंटी नेशनल घोषित कर दिया जाएगा, लेकिन वो मायने नहीं रखता है. उन्होंने कहा कि हमलों के कारण जम्मू-कश्मीर के लोग मुश्किल झेल रहे हैं. जंग किसी भी तरीके से कोई विकल्प नहीं है.

जम्मू-कश्मीर के पूर्व मुख्यमंत्री फारुक अब्दुल्ला इस पुरे मुद्दे पर कहा है कि  जितना आतंकवाद बढ़ेगा, उतनी मुसीबत आएगी और पाकिस्तान में ज्यादा मुसीबत आएगी. वहां कुछ भी नहीं आएगा. अब्दुल्ला ने कहा कि अगर यही सूरत रही तो हिंदुस्तान की हुकुमत को भी सोचना पड़ेगा कि अगला कदम क्या होगा.