कांग्रेस अध्यक्ष की कैलाश यात्रा पर बीजेपी बोली, कहा-राहुल चाइनीज गांधी

गुजरात चुनावों के दौरान खुद को जनेऊ धारी ब्राह्मण बताने वाले कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी को सत्तारूढ़ पार्टी ने एक क़दम आगे बढ़ते हुए उन्हें चाइनीज गांधी बता डाला। इन दिनों सरकार पर खूब हमले कर रहे गांधी अपनी आक्रामकता के चलते बीजेपी के निशाने पर कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी की शुक्रवार को शुरू हो रही कैलाश मानसरोवर यात्रा पर बीजेपी प्रवक्ता संबित पात्रा ने वीडियो जारी कर उनका मज़ाक उड़ाते हुए कहा कि राहुल नेपाल के रास्ते होकर चीन गए हैं। उन्होंने अपने वीडियो में कहा कि हम कांग्रेस से पूछना चाहते हैं कि राहुल चीन में किन-किन नेताओं से मिलेंगे। पात्रा ने आगे कहा कि राहुल जी आप चीन में क्या-क्या चर्चाएं करने वाले हैं।

कांग्रेस अध्यक्ष की कैलाश यात्रा पर बीजेपी बोली, कहा-राहुल चाइनीज गांधीराहुल के चीन को लेकर दिए गए बयानों पर बीजेपी प्रवक्ता ने राहुल पर हमला बोलते हुए कहा कि राहुल को चीन का प्रवक्ता होना चाहिए, वो यहीं नहीं रुके आगे उन्होंने राहुल पर चीन का प्रचार करने का आरोप भी लगा डाला। आपको बता दें कि राहुल ने चीन को लेकर कहा था कि चीन हर रोज 50 हजार युवाओं को नौकरी देता है जबकि इस मामले में भारत प्रतिदिन 450 का ही आंकड़ा छू पाता है, भारत इससे ऊपर नहीं उठ पाता। पात्रा ने राहुल से सवाल करते हुए पूछा कि आखिर राहुल को यह जानकारी कहां से मिली। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी द्वारा संसद में रोजगार को लेकर दिए गए भाषण का ज़िक्र करते हुए पात्रा ने कहा कि राहुल ने उसको नहीं सुना, लेकिन उन्हें यह पता चल गया कि चीन रोजाना 50 हजार नौकरी देता है। पात्रा ने राहुल पर तंज करते हुए कहा कि दरअसल राहुल भारत को समझना ही नहीं चाहते हैं, क्योंकि वह चीन के विज्ञापन में लगे हैं।

भारत-डोकलाम के बीच चल रहे तनावों को लेकर राहुल के हाल ही में दिए गए बयान पर पलटवार करते हुए पात्रा ने कहा कि जब डोकलाम में तनाव था तो राहुल रात के अंधेरे में भारत में चीनी राजदूत के साथ बैठक कर रहे थे। संबित पात्रा ने गांधी पर कई आरोप मढ़ते हुए अंत में उन्हें चाइनीज गांधी बता डाला।

कांग्रेस अध्यक्ष की कैलाश मानसरोवर यात्रा को लेकर बीजेपी द्वारा किए गए इन हमलों का जवाब देते हुए कांग्रेस ने इसे बीजेपी की कुंठा करार दिया। पार्टी के वरिष्ठ नेता अशोक गहलोत ने अपने ट्वीट में कहा कि सत्तारूढ़ पार्टी इस बात को हजम नहीं कर पा रही है कि कांग्रेस अध्यक्ष भगवान शिव के दर्शन के लिए जा रहे हैं और उनकी भोलेनाथ में अकूत आस्था है। कांग्रेस अध्यक्ष की कैलाश मानसरोवर यात्रा पर बीजेपी की इस तरह की प्रक्रिया उनकी संकीर्ण मानसिकता को दर्शाता है।