किसी स्वर्ग से कम नहीं है यह मस्जिद

- in पर्यटन

मस्जिद तो आप भी कई बार गएं होंगे और शायद जाते भी होंगे लेकिन क्या कभी आपको मस्जिद में जाने के बाद कभी ऐसी फीलिंग आई है जैसे कि आप किसी स्वर्ग में पहुंच गए हों। क्या कभी आपको ऐसा लगा कि आप किसी महल या फिर ऐसी जगह प्रवेश कर रहे हों जो जगह सिर्फ आप सपने में ही देखते हों। हम आपको कुछ ऐसी ही प्रकार की मस्जिद के बारे में बताने जा रहे है। यह मस्जिद  ईरान के शिराज प्रांत की एक इमारत है।

ये भी पढ़ें: जानिए दुबई की खूबसूरत व आकर्षक जगहों के बारे में

किसी स्वर्ग से कम नहीं है यह मस्जिद

इस मस्जिद का नाम नासिर अल-मुल्क मस्जिद है। इस मस्जिद की खास बात यह है कि इसे बाहर से देखने पर यह एक साधारण सी मस्जिद ही दिखेगी। लेकिन अन्दर से यह कोई महल के समान दिखाई देगी इसे अन्दर से देखने पर मानो ऐसा लगेगा जैसे कि आप किसी स्वर्ग में पहुंच गए हों जी हां क्योंकि इस मंदिर में जैसे ही सूरज की किरणें पड़़ती है तो यह मस्जिद जगमगाने लगती है। इसे देखकर एेसा महसूस होता है कि जैसे मानो आप किसी अलग ही दुनिया में आ गए हो। 

ये भी पढ़ें: गर्मियों की छुटियों में घुमिये जम्मू की ठण्डी वादियों में

आपको बता दें कि इस  मस्जिद में कांच की जड़ाई हुई है और जब मस्जिद के फर्श पर बिछे पर्शियन कारपेट पर सूरज की किरणें पड़ती हैं तो यह नजारा काफी देखने लायक बन जाता है। इसलिए इसकी इसी खासियत की वजह से इसे गुलाबी मस्जिद भी कहते हैं। इस मस्जिद का निर्माण ईरान के शासक मिर्जा हसन अली नाकिर अल मुल्क ने करवाया था। यह मस्जिद सन् 1876 से 1888 के बीच बनी थी।