कुत्ते पालने के शौकीन हैं तो, अब आपको देना होगा ये टेस्ट

- in अजब-गजब
राष्ट्रीय राजधानी दिल्ली में अब कुत्ते को गोद लेने के लिए भी साक्षात्कार की प्रक्रिया से गुजरना पड़ेगा। इसके साथ-साथ खुद की आय, शिक्षा सहित अन्य ब्यौरा भी सौंपना होगा। संजय गांधी एनिमल केयर सेंटर में अब तक 85 से अधिक कुत्तों को गोद लिया जा चुका है।

कुत्ते पालने के शौकीन हैं तो, अब आपको देना होगा ये टेस्ट

राजधानी में कुछ ऐसे भी लोग हैं जो निजी कारणों की वजह से कुत्ते को अपने साथ नहीं रखना चाहते हैं। ऐसे में उन्हें सड़क पर छोड़ देते हैं, जिन्हें पीएफए संस्था की ओर से आशियाना दिलाने की मुहिम चलाई गई है।

कुत्ते को दोबारा बेघर न होना पड़े और उसे महफूज रखने वालों की पहचान के लिए साक्षात्कार की प्रक्रिया से गुजरना होगा। इस दौरान गोद लेने वाले व्यक्ति के विवरण के साथ- साथ उनके परिवार और वित्तीय स्थिति सहित अन्य पहलुओं पर गौर किया जाता है।

अभियान को प्रोत्साहित करने के लिए संस्था की ओर से मॉल्स या मार्केट में साक्षात्कार के बाद ही गोद लेने का लोगों को मौका दिया जाता है। इनमें जर्मन शेपर्ड, लेब्राडोर, पग सहित दूसरे नस्ल के भी कुत्ते शामिल हैं।