केंद्र में नरेंद्र मोदी सरकार की दोबारा होगी वापसी : सर्वे

  • महाराष्ट्र की 48 सीटों में से राजग के खाते में 39 और यूपीए को 9 सीटें मिल सकती हैं

नई दिल्ली : लोकसभा चुनाव की घोषणाएं हो चुकी हैं, सभी दल चुनाव की तैयारियों में जुट गये हैं। देश का मिजाज समझने के लिए तमाम एजेंसियों ने अपने-अपने सर्वेक्षण कराना शुरू कर दिया है। इसी बीच टाइम्स नाउ और वीएमआर का साझा सर्वे सामने आया है। जिसमें साफ तौर पर यह कहा गया कि मौजूदा हालातों पर अगर अभी चुनाव होते हैं तो केंद्र में मोदी सरकार की दोबारा वापसी होगी और नरेंद्र मोदी का दोबारा प्रधानमंत्री बनना तय है। सर्वे में बताया गया कि लोकसभा की 543 सीटों में से बीजेपी नेतृत्व वाले राजग को 283 सीटें मिल सकती हैं। सरकार बनाने के लिए 272 सीटों की जरूरत है लेकिन सर्वे में राजग बहुमत से काफी आगे बढ़ चला है। ऐसे में विपक्ष कहां आकर रुकता है, जब इस पर विस्तृत चर्चा की गई तो सामने आया कि कांग्रेस नेतृत्व वाले यूपीए राजग से काफी पीछे चल रहा है। सर्वे में यूपीए को 135 सीटें तो अन्य के खाते में 125 सीटें मिलती हुई नजर आ रही हैं। मध्य प्रदेश, राजस्थान और छत्तीसगढ़ में हुए विधानसभा चुनावों में तो बीजेपी कुछ खास कर नहीं पाईं और सत्ता भी गंवा दी। लेकिन, जब लोकसभा चुनावों के लिए टाइम्स नाउ और वीएमआर ने सर्वे किया तो सामने आया कि प्रदेश की मौजूदा सरकार तो केंद्र के सामने कुछ भी बल नहीं रखती है।

मध्य प्रदेश की 29 लोकसभा सीटों में से राजग के खाते में 22 तो यूपीए को 5 मिल रही हैं। राजस्थान का हाल भी कुछ ऐसा ही दिखा। 25 संसदीय सीटों वाले राजस्थान में बीजेपी को 20 तो कांग्रेस को 5 मिलने के अनुमान हैं। जबकि 11 संसदीय सीटों वाले प्रदेश छत्तीसगढ़ में भी बीजेपी ने वापसी की है और यहां पर 6 सीटों पर कमल खिलने एवं 5 पर कांग्रेस का पंजा दिखाई दे रहा है। दिल्ली की सात और उत्तराखंड की पांच लोकसभा सीटों से सामने आए सर्वे का जिक्र करें तो यहां पर सिर्फ और सिर्फ बीजेपी का राज है बाकी की पार्टियों का पूरी तरह से सूपड़ा साफ होने के अनुमान हैं। बिहार की बात करें तो राजग के खाते में 40 में से 27 सीटें तो संप्रग के खाते में 13 सीटें आने के अनुमान हैं। जबकि झारखंड की 14 सीटों में से 8 पर बीजेपी ने कब्जा किया है और बाकी की 6 सीटें कांग्रेस के खाते वाले गठबंधन की ओर जा रही हैं। वहीं गुजरात में बीजेपी का जलवा बरकरार है वहां की सभी 26 सीटों में से 24 पर बीजेपी तो 2 पर कांग्रेस सिमट गई है।