कौन नहीं चाहता भूटान जैसा पड़ोसी और दोस्त : प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी

थिम्पू : दो दिवसीय भूटान यात्रा पर पहुंचे प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और भूटान के प्रधानमंत्री ने संयुक्त बयान जारी किया है। इस दौरान प्रधानमंत्री मोदी ने कहा कि अपने दूसरे कार्यकाल के शुरुआत में भूटान आना मेरे लिए सौभाग्य की बात है। हमने भूटान के छात्रों से मुलाकात की। हमें खुशी है कि भूटान में आज हमने रुपे कार्ड को लॉन्च किया है। इससे व्यापार में मदद मिलेगी और हमारी साझा विरासत भी मजबूत होगी। इसके साथ ही संयुक्त बयान के दौरान पीएम मोदी ने भूटान के छात्रों को जानकारी देते हुए कहा कि आज से भूटान के छात्रों के लिए पोस्ट ग्रैजुएट स्कॉलरशिप को दो से बढ़ाकर 5 किया जा रहा है। पीएम मोदी ने कहा कि भारत-भूटान संबंधों का इतिहास जितना गौरवशाली है, उतना ही आशाजनक भविष्य भी है। मुझे विश्वास है कि भारत और भूटान दुनिया में दो देशों के बीच संबंधों का एक अनूठा मॉडल रहेंगे। इसके साथ ही पीएम मोदी ने कहा कि रॉयल भूटान यूनिवर्सिटी और भारत के आइआइटी और कुछ अन्य टॉप शिक्षा संस्थानों के बीच सहयोग और संबंध शिक्षा और टेक्नोलॉजी के लिए आज की आवश्यकताओं के अनुरूप हैं। कल रॉयल भूटान यूनिवर्सिटी में इस देश के प्रतिभाशाली युवाओं से मुलाक़ात की मैं उत्सुकता से प्रतीक्षा कर रहा हूँ।

इस दौरान पीएम मोदी ने कहा कि स्पेस टेक्नोलॉजी के उपयोग से भूटान के विकास में तेजी लाने के लिए भारत प्रतिबद्ध है। हमने आज साउथ एशिया सैटेलाइट के अर्थ स्टेशन का उद्घाटन किया है। पीएम मोदी ने कहा कि सार्क करेंसी स्वैप फ्रेमवर्क के तहत भूटान के लिए करेंसी स्वैप की लिमिट बढ़ाने के लिए हमारा नज़रिया पॉजिटिव है। इस बीच, विदेशी मुद्रा की आवश्यकता को पूरा करने के लिए स्टैंडबाय स्वैप व्यवस्था के तहत अतिरिक्त 100 मिलियन डॉलर भूटान को उपलब्ध होंगे। पीएम मोदी आज भूटान के राजा जिग्मे खेसर नामग्येल वांगचुक से मुलाकात के लिए ताशिचेदोजोंग पैलेस पहुंचे हैं। इस दौरान थिम्पू के ताशीचेदोज़ोंग पैलेस में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को गार्ड ऑफ ऑनर दिया गया है। इससे पहले थिम्फू पहुंचने पर पीएम मोदी का भव्य स्वागत वहां रहने वाले भारतीयों ने भी किया है। भूटान में रह रहे भारतीय प्रवासियों द्वारा थिम्पू में होटल ताज ताशी में उनका स्वागत किया गया। इस दौरान मोदी-मोदी के नारे भी लगाए गए।