क्या सच में चंगेज खान की कब्र खुलते ही दुनिया हो जाएगी तबाह, जाने पूरी असलियत

- in अजब-गजब

फीचर्ड डेस्क: चंगेज खान एक ऐसा नाम है जिसे दुनिया भर में एक महान शासक के नाम से जाना जाता है. चंगेज खान भले ही एक क्रूर तानाशाह हो लेकिन अपनी बहादुरी से उसने आधी दुनिया पर राज किया था. यह तानाशाह असल में वन मैनआर्मी था जो जहा से भी गुजरता वहाँ सैलाब ले आता था. चंगेज खान कि क्रूरता के बारे में ये भी कहा गया है कि वह अपने दुश्मनों को इस तरह तड़पा-तडपा के मारता था कि उन्हें देखकर कर किसी की भी रूह कांप जाए. लेकिन हैरानी कि बात ये हैं कि चंगेज खान को आज तक सिर्फ किस्से कहानीयो में ही सुना गया है.चंगेज खान से जुड़ा हुआ एक भी सबूत कही पर भी मौजूद नहीं है. 

क्या सच में चंगेज खान की कब्र खुलते ही दुनिया हो जाएगी तबाह, जाने पूरी असलियत आज तक नहीं मिल पाई चंगेज खान की कबर

इतिहास के सबसे क्रूर इंसान से जुड़ी आज तक कोई भी चीज वास्तविकता में नहीं मिली है. यहाँ तक कि उसकी मौत से जुड़ा हुआ एक भी सबूत इस दुनिया में मौजूद नहीं है. आज तक इतिहासकार और भुगोलकर्ताओ को इस बात का पता नहीं चला कि आखिर चंगेज खान की लाश को कब और कहा दफनाया गया था. कुछ इतिहासकार का मानना है कि चंगेज खान ने अपने मरने से पहले एक वसीयत नामा बनवाया था जिसमें उसने कहा था कि उसकी मौत की इत्तला किसी को नहीं होनी चाहिए,चंगेज खान ये नहीं चाहता था कि आने वाली पीढ़ी को उसके बारे में कुछ भी पता चले इसलिए उसने अपनी वसीयत में लिखा था कि उसके मरने के बाद किसी गुमनाम जगह पर उसे दफनाया जाए.

एक हजार घोड़ों की पड़ी थी जरूरत

कहा जाता है कि चंगेज खान को उसकी कब्र में दफनाने के लिए उसके ऊपर से 1000 घोड़े दौडाए गए थे जिससे उसकी कब्र इतनी ज्यादा दफन हो जाए की कोई भी उसकी कब्र का पता ना लगा सके. साथ ही ये भी माना जाता है कि 1000 घोड़ों को दौड़ने की वजह ये भी थी कि उसकी कब्र का आने वाले समय में उसकी कब्र को कोई भी ना ढूँढ पाए और आज को सैकड़ों वर्ष बाद भी उसकी उस कब्र का पता कोई नहीं लगा सका. चंगेज खान की कबर को ढूँढने के लिए कई प्रयत्न किए गए लेकिन सभी असफल रहे जिसके कारण आज भी इतिहास के सबसे बड़े तानाशाह कि कब्र गुमनाम है. चंगेज खान की कबर को दफनाए लगभग 8 सदियाँ बीत चुकी हैं और उसकी कब्र को ढूँढने के लिए कई मिशन भी चलाए गए, लेकिन उसकी कब्र का पता नहीं चला. एक अंग्रेजी चैनल ने अपने मिशन को वैली ऑफ खान प्रोजेक्ट नाम देते हुए चंगेज खान की कबर को सैटलाइट के जरिए भी तलाशने कि कोशिश कि थी लेकिन असफल रहा.

चंगेज खान की कबर

चंगेज खान की कब्र के साथ दफन है एक बहुत बड़ा श्राप – माना जाता है कि चंगेज खान की कबर को जान पूछकर आने वाली पीढ़ियों से छुपाया गया है. मंगोलियाई लोगों कि माने तो उनका कहना है कि चंगेज खान की कबर पर एक श्राप है. जो भी उसकी कब्र खोलेगा उसकी मौत हो जाएगी और साथ ही ये दुनिया भी तबाह हो जाएगी. इसी कारण आज तक मंगोलियाई लोगों ने आज तक चंगेज खान कि कब्र को तलाशने के लिए कोई कदम नहीं उठाया.