गोरखपुर में हुई बच्चों की मौत पर विभिन्न संगठनों ने जताया आक्रोश

- in उत्तर प्रदेश

इलाहाबाद। गोरखपुर के बी.आर.डी अस्पताल में मासूम बच्चों की मौत पर शनिवार को कांग्रेस, सपा, आप पार्टी के अतिरिक्त विभिन्न स्वयंसेवी संस्थाओं ने आक्रोश व्यक्त करते हुए दोषियों को गिरफ्तार कर दण्डित करने की मांग की है। जनहित संघर्ष समिति के कार्यकर्ताओं ने मेडिकल कालेज चौराहे पर प्रदर्शन किया। इस दौरान प्रदेश अध्यक्ष प्रमिल केशरवानी ने कहा कि यह सिर्फ गोरखपुर ही नहीं उत्तर प्रदेश के समस्त सरकारी मेडिकल कालेज अनियमितता के शिकार हैं। यहां के डॉक्टर क्रूर हैं और मरीजों की देखरेख में सेवाभाव नहीं रखते। ये लोग अपने फायदे के लिए जो सुविधा मेडिकल कालेजों में होती है उसको मरीजों को न प्रदान कर बाहर प्राइवेट संस्थानों में मुहैया करायी जाती है और इसके एवज में इनको मोटी रकम कमीशन के रूप में मिलती है।

सिविल लाइंस स्थित सुभाष चौराहे पर आम आदमी पार्टी के कार्यकर्ताओं ने आक्रोश व्यक्त किया। जिला संयोजक बृजेश कुमार सक्सेना ने कहा कि यह खेद का विषय है कि सबका साथ सबका विकास के दावों के बीच गैस सिलेण्डर के बकाये का भुगतान न होने से बी.आर.डी अस्पताल में कई मरीजों की मौत हो जाती है। यदि प्रदेश सरकार ने कोई फौरी कार्रवाई नहीं की तो और जगहों पर मौतें होना संभावित है। कहा कि मुख्यमंत्री को गोरखपुर जाकर हालात का जायजा लेना चाहिए था, लेकिन मुख्यमंत्री इलाहाबाद आकर गंगा समग्र यात्रा में हिस्सा ले रहे हैं यह शर्मनाक है। कांग्रेस के महासचिव मुकुन्द तिवारी ने कहा कि यह एक संवेदनशील घटना है। इस दर्दनाक घटना में दोषी अफसरों के खिलाफ कार्यवाही होनी चाहिए। क्योंकि कहीं न कहीं जिला प्रशासन के साथ-साथ अस्पताल के अधीक्षक एवं डाक्टरों की घोर लापरवाही उजागर होती है। उन्होंने राज्यपाल से मांग की है कि इस गंभीर घटना की न्यायिक जांच करायी जाय। इसी प्रकार सपा के कार्यकर्ताओं ने सायंकाल कैंडल मार्च निकालकर दोषियों के खिलाफ कार्यवाही की मांग की है।

loading...