गोल्डन गर्ल, स्वप्ना बर्मन ने बंगाल सरकार से की मांग

कोलकाता : एशियाई खेलों में हेप्टाथलॉन का गोल्ड मेडल जीतने वाली स्वप्ना बर्मन ने पश्चिम बंगाल सरकार से शहर में एक घर देने मांग की है| स्वप्ना बर्मन ने पश्चिम बंगाल सरकार द्वारा घोषित 10 लाख रुपए के पुरस्कार पर टिप्पणी करने से इंकार कर दिया| लेकिन कहा, कि अगर उनके ट्रेनिंग बेस के करीब शहर में उन्हें घर मिल जाये तो उन्हें अच्छा लगेगा| स्वप्ना बर्मन के पास कोलकाता में रहने के लिए स्थायी घर नहीं है| जलपाईगुड़ी जिले से तालुक रखने वाली स्वप्ना बर्मन 2012 से यहां भारतीय खेल प्राधिकरण “साई” के पूर्वी परिक्षण केंद्र में ट्रेनिंग कर रही है|

स्वप्ना बर्मन ने यहां संवाददाताओं से कहा, मेरी एक ही इच्छा है, कि मेरा साई कॉम्पलेक्स के पास एक घर हो| मुझे अभी साई कॉम्पलेक्स में रहना होता है, लेकिन जब मेरी ट्रेनिंग नहीं होती तो मेरे पास रहने के लिए जगह नहीं है| अगर सरकार मुझे एक घर देती है, तो मेरी बहुत मदद हो जाएगी| इससे पहले, मुक्केबाज विजेंदर सिंह और भारतीय एथलेटिक्स टीम के मुख्य कोच बहादुर सिंह ने बंगाल सरकार से स्वप्ना के लिए घोषित ईनामी राशि बढ़ाने की मांग की थी| पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने हेप्टाथलॉन में गोल्ड मेडल आने के बाद स्वप्ना को 10 लाख रुपए और सरकारी नौकरी का वादा किया था| इस घोषणा की काफी आलोचना हुई, क्योंकि हरियाणा सरकार ने प्रत्येक स्वर्ण पदकधारी एथलीट को 3-3 करोड़ रुपए की पेशकश की जबकि पड़ोसी राज्य ओडिशा ने धाविका दुती चंद के लिए तीन करोड़ रुपए की घोषणा की जिन्होंने दो रजत पदक जीते| स्वप्ना ने साई परिसर में सम्मान समारोह में ईनामी राशि के सवाल पर पत्रकारों से कहा, मुझे कोई टिप्पणी नहीं करनी| मैंने सुना कि सरकार ने मुझे और मेरे भाई को सरकारी नौकरी देने का वादा किया| मुझे काफी पेशकश मिल रही हैं| और मैंने अभी तक फैसला नहीं किया है| यह पूछने पर कि वह राज्य सरकार से कुछ और चाहती हैं, तो उन्होंने कहा, मैं सिर्फ साल्ट लेक में साई परिसर के करीब एक स्थायी निवास चाहती हूं| मैं अभी साई परिसर में रहती हूं लेकिन अगर मेरा प्रदर्शन नहीं होता तो मेरे पास कोई जगह नहीं होती| इसलिए अगर सरकार मुझे एक घर दिला दे तो यह काफी फायदेमंद होगा|

सभी बॉलीवुड तथा हॉलीवुड मूवीज को सबसे पहले फुल HD Quality में देखने के लिए यहाँ क्लिक करें