चौंका देने वाला खुलासा,ऑनर किलिंग में सामने आया “आईएसआई” कनेक्शन

नई दिल्ली : तेलंगाना के नालगोंडा में हुए प्रणय ऑनर किलिंग मामले में पुलिस ने सात आरोपियों को हिरासत में ले लिया है| आरोपियों में लड़की के पिता मारुति राव उसके अंकल श्रवण समेत सात लोग शामिल है| छानबीन में यह सामने आया है कि मारुति राव ने प्रणय को मारने के लिए एक करोड़ रुपये की सुपारी दी थी| यही नहीं, इस मामले में पाकिस्तान की खुफिया एजेंसी आईएसआई और गुजरात के पूर्व गृहमंत्री हरेन पांड्या का भी कनेक्शन सामने आया है| मीडिया रिपोर्ट के अनुसार, तेलंगाना पुलिस के सीनियर अधिकारी ने बताया कि आरोपी मोहम्मद अब्दुल बारी को गुजरात के पूर्व गृह मंत्री हरेन पांड्या के मर्डर के मामले में सीबीआई ने अरेस्ट किया था| लेकिन बाद में उसे बरी कर दिया गया| बारी, नालगोंडा के आईएसआई संदिग्ध असगर अली के गैंग का भी सदस्य रहा है| असगर और बारी दोनों 2003 में पांड्या के मर्डर केस में हिरासत में लिया जा चुके हैं| हालांकि, मर्डर केस में बारी को तो रिहा कर दिया गया, लेकिन असगर के खिलाफ अभी ट्रायल चल रहा है| खुफिया एजेंसियों के अनुसार उसके कनेक्शन आईएसआई से भी जुड़े हुए हैं| जांच में यह भी सामने आया है कि प्रणय की पत्नी अमृता वार्षिणी के पिता “टी. मूर्ति राव”, ने बारी को अपने दामाद प्रणय की मर्डर के लिए एक करोड़ रुपये की फीरोती दी थी| बारी ने इसके लिए बिहार के हमलावरों को पैसा दिया था| केस में स्थानीय कांग्रेस नेता मोहम्मद करीम को भी गिरफ्तार कर लिया है| अधिकारियों ने बताया कि मूर्ति राव ने करीम के जरिए ही बारी से संपर्क किया था और एक करोड़ रुपये की सुपारी दी थी| वह 50 लाख दे भी चुके थे| गौरतलब है, की वह अपनी गर्भवती पत्नी और मां के साथ हॉस्पिटल से बाहर निकल रहे थे, जब सबके सामने ही एक हमलावर ने पीछे से उन पर हमला कर हत्या कर दिया| पूरी घटना सीसीटीवी में कैद हो गई थी| दलित समुदाय से आने वाले प्रणय ने अमृता के साथ अंतरजातीय विवाह किया था| अमृता ने इस मामले में अपने पिता “टी. मूर्ति राव और चाचा टी. श्रवण” पर ही पति को मारने का आरोप लगाया था| अमृता ने टीआरएस विधायक वीरेशम पर भी हत्याकांड में शामिल रहने का आरोप लगाया था, हालांकि पुलिस को उनके खिलाफ कोई पोख्ता सबूत नहीं मिला| कांग्रेस पार्टी ने मिरयालागुडा शहर के कांग्रेस अध्यक्ष मोहम्मद करीम का नाम भी शामिल होने के बाद उन्हें पार्टी से निष्कासित कर दिया गया है|