जापान में जेबी तूफान का कहर, घर छोड़ सुरक्षित ठिकानों पर पहुंचे लोग


टोक्यो : जापान में मंगलवार को 25 साल का सबसे शक्तिशाली जेबी तूफान आया। यह तूफान इतना ताकतवर था कि आसपास के इलाकों में बड़ी बर्बादी लेकर आया। इस वजह से आसपास के इलाकों को खाली करा दिया गया है और लोगों को सुरक्षित इलाके तक पहुंचाया जा रहा है। पश्चिमी जापान में 216 किलोमीटर प्रति घंटे की रफ्तार से जेबी चक्रवाती तूफान चल रहा है। चक्रवाती तूफान जेबी को जापान की मौसम विज्ञान एजेंसी (जेएमए) ने काफी शक्तिशाली बताया है। इस तूफान के कारण शक्तिशाली लहरें, बाढ़ और भूस्खलन के खतरे की चेतावनी समूचे इलाके में जारी की गई है।

प्रधानमंत्री शिंजो आबे ने तूफान की भयावहता को देखकर लोगों से सुरक्षित रहने की अपील की है। लोगों से जल्द से जल्द सुरक्षित स्थान की ओर कूच करने और तूफान से बचने के लिए जरूरी दिशा-निर्देश के पालन के लिए कहा गया है। पश्चिमी जापान के इस इलाके में इस साल गर्मी में भारी बारिश और बाढ़ के कारण काफी नुकसान हुआ। लोग अभी तक बाढ़ की त्रासदी से उबर भी नहीं पाए थे और जेबी तूफान की मार झेलनी पड़ी है। शुरुआती रिपोर्ट में 8 लोगों के तूफान से मारे जाने की खबर है।

मौसम एजेंसी के प्रमुख अनुमानकर्ता रयुता कुरोरा ने बताया कि जेबी अपने केन्द्र से 162 किलोमीटर प्रति घंटे की रफ्तार से चल सकता है। तूफान के कारण मूसलाधार बारिश भी हो रही है जिसके कारण लोगों का सड़क, रेल वायु मार्ग से संपर्क पूरी तरह से कट गया है। तूफान से अनुमानित कितने की क्षति होगी और बर्बाद हुए इलाकों को फिर से बसाने में कितना वक्त लगेगा, अभी इस पर कोई स्पष्ट घोषणा नहीं की गई है। हालांकि, बारिश और तूफान के कारण पश्चिमी जापान के तटीय इलाकों में सबसे अधिक क्षति हुई है। पश्चिमी जापान के प्रमुख ओसाका ब्रिज के टूट जाने और एयरपोर्ट में पानी भरने के कारण लोगों के लिए खास इंतजाम किया गया है। जापान की प्रशासन की तरफ से स्पीड बोट से लोगों को कंसाई एयरपोर्ट भेजा जा रहा है।