ज्ञान की देवी हैं माता सरस्वती : सशक्त सिंह

वसंत पर्व पर आर्यकुल कॉलेज में की गयी सरस्वती पूजा

लखनऊ : बिजनौर स्थित आर्यकुल कालेज में बसंत पंचमी के अवसर पर कालेज सभागार में सरस्वती पूजा का कार्यक्रम हुआ। सरस्वती पूजा कार्यक्रम का शुभारम्भ कालेज के चौयरमैन के.जी.सिंह, कालेज के प्रबंध निदेशक सशक्त सिंह द्वारा दीप प्रज्जवलित करके किया गया। इस अवसर पर बच्चों को संबोधित करते हुए प्रबंध निदेशक सशक्त सिंह ने इस पावन अवसर पर बसंत पंचमी की शुभकामनांए दी और कहा कि छात्र-छात्राओं के लिए यह बहुत ही शुभ दिन है क्योंकि माता सरस्वती ज्ञान की देवी हैं इनकी उपासना करने पर ज्ञान की वृद्धि होती है। इसी उपासना के दिन को बसंत पंचमी कहा जाता है। इस दिन संगीत कला और आध्यात्म का आशीर्वाद भी लिया जा सकता है। ज्योतिष शास्त्र के अनुसार कहा जाता है कि यदि किसी की कुंडली में विद्या बुद्धि का योग नहीं है या शिक्षा में बाधा आ रही है तो इस दिन मां शारदा की आराधना अवश्य करनी चाहिए।

उन्होंने छात्र/छात्राओं से सरस्वती पूजन यानी ईश्वर से कामना करो कि हमें सद्बुद्धि प्रदान करे। बुद्धि केवल मनुष्य के पास ही नहीं बल्कि पशुओं के पास भी होती है परन्तु सदबुद्धि का अधिकारी मनुष्य मात्र ही है। दुख का विषय यह है कि मनुष्य चालाक, विद्वान, गुणी बनने के प्रयास तो करता हैं परन्तु सद्बुद्धि के बिना सब योग्यताएं व्यर्थ ही नहीं बल्कि हानिकारक सिद्ध होती है जबकि जिस व्यक्ति के पास सद्बुद्धि हैं उसके पास कोई कमी नहीं होती। उन्होंने बच्चों को पढ़ाई के साथ मन में अच्छे विचार लाने के लिए संकल्प लेने को कहा और कहा कि प्रत्येक बच्चे को खूब मन लगा कर पढ़ाई करना चाहिए जिससे के वह अपने माताकृपिता का नाम रोशन कर सके। इसके साथ ही उन्होंने बच्चों को जीवन में अनुशासित रहने के लिए कहा क्योंकि जबतक जीवन में अनुशासन नहीं होगा किसी भी काम में मन नहीं लेगेगा। सभी बच्चों को सुबह उठकर नित्य क्रिया के बाद पढ़ाई अवश्य करनी चाहिए जिससे वह जीवन के हर मुकाम पर अपना व अपने घर वालों का नाम रोशन कर सके। इसके साथ ही उन्होंने बच्चों को अपना टाइम टेबल बना कर ही पढ़ने को कहा जिससे उनके दिन का एक भी टाइम खराब न हो वह दिन प्रतिदिन उन्नति की ओर अग्रसर हो सके।

इस कार्यक्रम में कालेज के रजिस्ट्रार सुदेश तिवारी,अध्यक्ष पत्रकारिता एवं शिक्षा विभाग अंकिता अग्रवाल, एच.आर.हेड नेहा वर्मा, शोध निदेशक डॉ.रविकान्त तिवारी के साथ शिक्षकों में फार्मेसी विभाग से डॉ.नवनीत बत्रा, डॉ.शशांक तिवारी, बी.के सिंह, डा0 संजय यादव, प्रियंका केशरवानी, रश्मि सागर, निधि कुमारी, स्वाती सिंह, संचालिका मिश्रा, मैनेजमेंट विभाग से आशुतोष यादव, अंकिता अग्रवाल, आकांक्षा सिंह, विनीता दूबे, सिद्धार्थ महन्ता, शशांक मेहरोत्रा बी.टी.सी.विभाग से गीता मिश्रा, नीलम भास्कर, धनेश प्रताप सिंह, प्रणव पाण्डे, पंकज यादव आदि के साथ रजिस्ट्रार श्री ए.के तिवारी स्टाफ में हर्ष नारायण सिंह, रोहित वर्मा, अंकुर के साथ अन्य स्टाफ में सर्वजीत, कौशल इस कार्यक्रम में उपस्थित रहे।