ट्रंप के दौर में भारत-अमेरिका के रिश्ते सबसे ज्यादा मजबूत और बेहतर’

ट्रंप प्रशासन भारत के साथ रक्षा तथा सुरक्षा सहयोग को विस्तार देना जारी रखना चाहता है साथ ही पूरे दक्षिण एशिया में नयी दिल्ली के प्रगाढ़ होते संबंधों का समर्थन करता है. दक्षिण तथा मध्य एशियाई मामलों की प्रमुख उप सहायक मंत्री एलिस वेल्स ने कहा कि भारत और अमेरिका के बीच सामरिक भागीदारी कानून व्यवस्था को बनाए रखने तथा मुक्त एवं निष्पक्ष व्यापार जैसी साझा प्रतिबद्धताओं पर आधारित है.ट्रंप के दौर में भारत-अमेरिका के रिश्ते सबसे ज्यादा मजबूत और बेहतर'

वेल्स ने कहा, ‘‘भारत-अमेरिका सामरिक साझेदारी कानून व्यवस्था, नौवहन की स्वतंत्रता, लोकतांत्रिक मूल्यों तथा मुक्त एवं निष्पक्ष व्यापार को बनाए रखने की साझा प्रतिबद्धताओं पर दृढ़ता से कायम है. रक्षा तथा सुरक्षा सहयोग को विस्तारित करते रहने की हमारी योजना है साथ ही हम क्षेत्र भर में भारत के बढ़ते संबंधों का समर्थन करते है.’’

सहायक विदेश मंत्री की गैरमौजूदगी में वेल्स साल भर से विदेश मंत्रालय के दक्षिण तथा मध्य एशिया ब्यूरो को संभाल रही हैं. ट्रंप प्रशासन के एक साल से ज्यादा के कार्यकाल के दौरान भारत अमेरिका के बीच संबंध पर उनकी राय के बारे में पूछे जाने पर उन्होंने अमेरिकी राष्ट्रपति को उद्धृत करते हुए कहा संबंध, ‘‘इससे ज्यादा मजबूत और बेहतर कभी नहीं रहें.’’

उन्होंने कहा, ‘‘पिछले साल इस पद को संभालने के बाद से उनके शब्द मेरे लिए सही साबित हुए हैं. विश्व के पुराने और बड़े लोकतंत्र के रूप में अमेरिका और भारत स्वतंत्रता, स्पष्टता, और शांति के समर्थन में अनेक मुद्दों पर जुड़े हुए हैं और इसकी वजह से हाल के समय में भारत-प्रशांत में काफी समृद्धि आई है. उन्होंने कहा कि भारत यात्रा के दौरान ये मुद्दे उनके एजेंडे में प्रमुखता से थे. वेल्स ने कहा कि दोनों देश ऊर्जा साझेदारी को मजबूत करने के लिए कड़ी मेहनत कर रहे हैं.