डोनाल्ड ट्रंप ने पूर्व जासूस को जहर देने के मामले में रूस से मांगा जवाब

अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने ब्रिटेन में पूर्व जासूस को जहर देने के मामले में रूस से स्पष्टीकरण मांगा है. इंग्लैंड द्वारा इसका जवाब देने के लिए तय समयसीमा बीत गई है. दूसरी ओर रूस ने चेताया है कि शीतयुद्धकाल की साजिशों की तरह यदि उसे दंडित किया गया तो वह पलटवार करेगा. मास्को ने इन आरोपों का खंडन किया है कि डबल एजेंट की हत्या की कोशिश में उसका हाथ है. उसने ब्रिटेन की ओर से इस सवाल का जवाब देने के लिए निर्धारित मध्यरात्रि की समयसीमा का भी उल्लंघन किया कि सोवियत संघ में तैयार जहर ब्रिटेन में कैसे पहुंचा. बीती चार मार्च को सर्गेई स्क्रीपल और उसकी बेटी यूलिया को ब्रिटेन के सैलिस्बरी शहर में जान से मारने की कोशिश की गई थी. इस घटना ने रूस और ब्रिटेन और उसके सहयोगी अमेरिका, नाटो और यूरोपीय संघ को आमने- सामने ला दिया है.डोनाल्ड ट्रंप ने पूर्व जासूस को जहर देने के मामले में रूस से मांगा जवाब

ब्रिटिश पीएम और ट्रंप ने की फोन पर बात
ब्रिटिश प्रधानमंत्री थेरेसा मे ने मास्को की ओर उंगली उठाई थी और कहा था कि इस बात की बहुत संभावना है कि इस घटना के पीछे रूस का हाथ हो. बढ़े तनाव के बीच उन्होंने कहा कि वह बुधवार को लंदन की प्रतिक्रिया बताएंगी. थेरेसा के साथ मंगलवार को फोन पर ट्रंप ने कहा था कि रूस को इस घटना पर जवाब देना चाहिए जिसके बारे में माना जाता है कि द्वितीय विश्व युद्ध के बादसे यह यूरोप में पहला हमला है.

व्हाइट हाउस ने कहा कि दोनों नेताओं ने इस बात पर सहमति जताई कि उन लोगों को परिणाम भुगतने के दायरे में लाने की जरूरत है जिन्होंने अंतरराष्ट्रीय नियमों का उल्लंघन कर इस जघन्य अपराध को अंजाम दिया है.