तिहरा हत्याकांड की गुत्थी सुलझी, बुजुर्ग दंपती की हत्या करने वाले लड़का-लड़की गिरफ्तार

दिल्ली के वसंत विहार में तिहरा हत्याकांड में पुलिस ने बड़ी सफलता हासिल करते हुए आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया है। गिरफ्तार आरोपी वही युवक है जो वारदात वाली रात माथुर दंपती के घर के अंदर जाते और फिर बाहर आते हुए सीसीटीवी कैमरे में कैद हुआ था। बताया जा रहा है कि इस पूरे वारदात की साजिश मृतक बुजुर्ग शशि माथुर की एक सहेली की बेटी प्रीती ने अपने आशिक मनोज के साथ मिलकर रची थी। दोनों पिछले दो साल से लिव-इन में रह रहे हैं। पुलिस ने दोनों को बीती रात गिरफ्तार कर लिया और अब भी इनसे पूछताछ जारी है। जानकारी के अनुसार पुलिस इस मामले में बुधवार करीब 1 बजे प्रेस कांफ्रेंस कर सकती है।

यह वारदात लूट के लिए अंजाम दी गई थी। बताया जा रहा है कि दोनों आरोपियों को गुरुग्राम से गिरफ्तार किया गया है। गिरफ्तार आरोपी युवक मनोज पहले भी अपनी पत्नी की हत्या के आरोप में जेल जा चुका है।

जानकारी के अनुसार प्रीती का बुजुर्ग दंपती के घर में आना-जाना था। यह दोनों वारदात से कुछ दिन पहले भी बुजुर्ग दंपती के घर रेकी के लिए आए थे। जिसके बाद इन्होंने पूरी साजिश रची और 22 जून की रात इस घटना को अंजाम दिया।

कब और कैसे हुई थी माथुर दंपति की हत्या
महरौली मेें जघन्य हत्याकांड के बाद शनिवार(22 जून) रात वसंत विहार में बुजुर्ग दंपती और उनकी नर्स की गला रेतकर हत्या की खबर से सनसनी फैल गई थी। शुरुआती जांच के बाद पुलिस ने लूटपाट से इंकार किया था, हालांकि अब आरोपियों के गिरफ्तार होने के बाद लूटपाट की ही वारदात सामने आ रही है।

दक्षिण-पश्चिमी जिला डीसीपी देवेंद्र आर्या ने बताया था कि विष्णु स्वरूप माथुर (79) पत्नी शशि माथुर (75) के साथ 234, पहली मंजिल वसंत एंक्लेव, वसंत विहार में रहते थे। विष्णु स्वरूप सीजीएचएस से फार्मासिस्ट के पद से रिटायर हुए थे, जबकि उनकी पत्नी एनडीएमसी से रिटायर हुई थीं।

चलने-फिरने में असमर्थ होने के कारण शशि ने देखभाल के लिए करीब छह माह पहले नर्सिंग असिस्टेंट पौड़ी गढ़वाल (उत्तराखंड) निवासी खुशबू नौटियाल (23) को रखा था। रविवार सुबह जब नौकरानी बबली काम पर आई थी तो घर के दरवाजे पर बाहर से कुंडी लगी थी। उसने गेट को धक्का देकर अंदर प्रवेश किया तो देखा कि विष्णु माथुर व शशि के शव पलंग पर पड़े थे, जबकि नर्स का शव ड्राइंग रूम में पड़ा था।

तीनों की गला रेतकर हत्या की गई थी। उसने शोर मचाकर पड़ोसियों को बुलाया। इसके बाद करीब नौ बजे पुलिस को सूचना दी गई। पुलिस ने दंपती की बेटी अनिता (50) की रिपोर्ट पर अज्ञात के खिलाफ केस दर्ज किया था।

दस वर्ष पहले बेटे की मौत हो गई थी
बुजुर्ग दंपती का एक ही बेटा था। करीब दस वर्ष पहले उसकी सड़क दुर्घटना में मौत हो गई थी। बेटे की मौत के बाद दंपती बीमार रहने लगे। बेटी अनिता शादीशुदा है और वह अपने परिवार के साथ ग्रेटर कैलाश-दो में रहती है। वह माता-पिता की देखभाल के लिए वसंत एंक्लेव आती रहती थीं।