तेज प्रताप यादव की सुरक्षा बड़ी, लगाया हत्या करने का आरोप : जाने पूरा मामला

पटना : बिहार लालू प्रसाद यादव के बेटे तेज प्रताप यादव की हत्‍या की साजिश रची गई थी, जिसे उनके अंगरक्षकों ने नाकाम कर दिया। यह हम नहीं, बल्कि खुद तेज प्रताप यादव कह रहे हैं। मामला हाजीपुर से महुआ जाने के दौरान एक हथियारबंद युवक द्वारा उनके हाथ पकड़ लेने का है। बुधवार को तेज प्रताप यादव की सुरक्षा में बड़ी चूक का मामला उजागर हुआ। वैशाली के महुआ जाते वक्‍त हथियार से लैस एक युवक ने तेज प्रताप यादव का हाथ पकड़ लिया। तेज प्रताप यादव हाजीपुर से होते हुए महुआ जा रहे थे। रास्‍ते में वे समर्थकों से मिल रहे थे। इसी दौरान यह घटना हुई।

यह देखते ही सुरक्षाकर्मियों ने उसे दबोच लिया। पुलिस उससे पूछताछ कर रही है। घटना पर प्रतिक्रिया देते हुए, तेज प्रताप यादव ने कहा कि उनकी हत्या की साजिश रची गई थी। वहीं उन्होंने भाजपा व आरएसएस पर साजिश रचने का आरोप लगाया। मुख्‍यमंत्री नीतीश कुमार पर हमला करते हुए कहा, कि इस सरकार में जब विधायक सुरक्षित नहीं है, तो आम आदमी की क्या हालत होगी| इसका अंदाजा लगाया जा सकता है। तेज प्रताप यादव अपने विधानसभा क्षेत्र में अपने अंदाज में भ्रमण करते रहे हैं। बीते दिनों उन्‍होंने यहां, रिक्‍शे की सवारी की थी, तथा ट्रैक्‍टर भी चलाया था। तेज प्रताप ने यहां के लोगों के साथ सत्‍तू भी खाया था। उनके ऐसे कार्यों के दौरान सुरक्षा घेरा टूटता रहा है।
हाल की बात करें तो, पटना में वे साइकिल चलाते हुए अपने ही सुरक्षा दस्‍ते की गाड़ी से टकराकर गिर पड़े थे। इस सावन में वे बाबा नगरी देवघर भी गए थे, जहां उनका शिव रूप चर्चा में रहा था। पहले उनकी मुरली व शंख बजाते तथा मिठाई बनाते कई तस्‍वीरें वायरल हो चुकी हैं।