दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल के दिन अच्छे नहीं चल रहे है, एक और विवाद में फसे

दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल के दिन अच्छे नहीं चल रहे है, उनका हर कदम या तो विकास की नज़र में गलत होता है या वो गलत कदम चल ही देते है. आलम यह है कि अरविंद केजरीवाल सरकार के ज्यादातर फैसले विवादों में घिर जाते है. ताजा मामला, सरकार के ऐड को लेकर है. जिसमें आप सरकार की तीन साल की उपलब्धियों को गिनवाया है. लेकिन ये विज्ञापन नियम और कानून की कसौटी पर खरा नहीं उतर रहा है.दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल के दिन अच्छे नहीं चल रहे है, एक और विवाद में फसे

दरअसल केजरीवाल सरकार के विज्ञापन में एक लाइन ने विज्ञापन का बेडा गर्क किया है जिसमे केजरीवाल सरकार की तारीफ कुछ इस तरह की गई है, “ वो कहते हैं जब आप सच्चाई और ईमानदारी के रास्ते पर चलते हैं तो ब्रह्मांड की सभी दृश्य और अदृश्य शक्तियां आपकी मदद करती हैं ’’, इस लाइन के जरिए अरविंद केजरीवाल अपनी सरकार दुश्वारियों को बयां कर रहे हैं, लेकिन इस लाइन पर कुछ अधिकारियों की तरफ से ऐतराज किया गया और अधिकारियों ने सुप्रीम कोर्ट की गाइडलाइंस का हवाला दिया जिसमे का गया है कि विज्ञापन में सभी तथ्यों की संबंधित विभाग द्वारा पुष्टि होनी चाहिए.

विज्ञापन की शुरुआत कुछ इस तरह होती है, ”तीन साल हुआ कमाल बदले स्कूल, बदले अस्पताल, बदला बिजली, पानी का हाल”, इसके साथ ही ये भी बताया गया है कि किस तरह से उनकी राह में कांटे बिछाए गए जिसका उन्होंने बखूबी सामना किया.