दिल्ली चालक पिटाई: रातभर थाने में कैद रहे पुलिसवाले, MLA से भी हाथापाई; अर्ध सैनिक बल तैनात

- in दिल्ली, राज्य

देश की राजधानी दिल्ली के मुखर्जी नगर इलाके में रविवार शाम ग्रामीण सेवा ड्राइवर और उनके बेटे के साथ मारपीट को लेकर 24 घंटे बाद भी बवाल थमने का नाम नहीं ले रहा है। ड्राइवर और उनके बेटे की पुलिस द्वारा पिटाई को लेकर समुदाय विशेष के लोगों में खासा गुस्सा है और मंगलवार को हंगामा होने की आशंका जताई जा रही है। बताया जा रहा है कि पंजाब से बड़ी संख्या में सिख समुदाय के लोग दिल्ली में आए हैं और उन्होंने प्रदर्शन को बढ़ा दिया है।

इससे पहले सोमवार देर रात दिल्ली के मुखर्जी नगर थाने पर बड़ी संख्या में सिख समुदाय के लोग पहुंचे और सिख ड्राइवर से पुलिस की मारपीट का विरोध करने लगे। इस दौरान विरोध कर रहे लोगों के बीच दिल्ली से भाजपा-अकाली दल विधायक मनजिंदर सिंह सिरसा पहुंचे तो प्रदर्शनकारियों ने उनके साथ हाथापाई भी की। इस दौरान दिल्ली पुलिस बेबस नजर आई।

विधायक मनजिंदर सिंह सिरसा के साथ इस हाथापाई का वीडियो सोशल मीडिया पर सामने आया है। इस वीडियो में साफ दिखाई दे रहा है कि सोमवार देर रात को बड़ी संख्या में सिख समुदाय के लोगों ने मुखर्जी नगर थाने का घेराव कर प्रदर्शन किया। इस दौरान वहां पहुंचे शिरोमणि अकाली दल के विधायक मनजिंदर सिंह सिरसा से प्रदर्शनकारियों ने जमकर हाथापाई की। विधायक मामले को शांत करने के लिए मौके पर गए थे, लेकिन सिख समुदाय के लोगों में नाराजगी इस कदर थी कि वे कुछ भी सुनने-समझने के लिए तैयार नहीं थे।

इस क्लिप में घटना से नाराज प्रदर्शनकारी विधायक को घेरते हुए उनके साथ धक्का-मुक्की और हाथापाई करते नजर आ रहे हैं। वहीं, कुछ लोग उन्हें बचाते दिखे। वीडियो में लोग गलत भाषा का इस्तेमाल करते भी सुने जा सकते हैं।

जानकारी के अनुसार, मुखर्जी नगर थाने पर पहुंचे प्रदर्शनकारियों ने वहां के रास्ते को भी बाधित कर दिया, जिससे उस रूट से आने-जाने वाले लोगों को भी दिक्कतों का सामना करना पड़ा। इसके बाद सोमवार देर रात मुखर्जी नगर में हालात फिर बिगड़ने लगे थे। थाने के बाहर बड़ी संख्या में सिख समुदाय के लोग नारेबाजी करते हुए जमा हो गए। बताया जा रहा है कि पंजाब से लोग बसों में आए हैं। उग्र भीड़ को देखते हुए अर्धसैनिक बलों के जवानों को बुला लिया गया था।

सरबजीत व उनके बेटे की पिटाई से नाराज लोगों ने रविवार पूरी रात हंगामा किया। मुखर्जी नगर लालबत्ती के पास रिंग रोड पर जाम लगाकर पुलिस के खिलाफ नारेबाजी की। दो वाहनों में पुलिसकर्मी भेजे गए तो उग्र भीड़ ने पथराव कर दिया और पुलिस वैन के शीशे तोड़ डाले। देर रात तीन पुलिसकर्मियों के निलंबन के बाद ही वे थोड़ा शांत हुए।

पुलिस का कहना है कि सरबजीत ने पहले तलवार से एक पुलिसकर्मी के सिर पर वार किया था। वहीं, घटना के वायरल वीडियो में सरबजीत ने तलवार निकाली तो वहां मौजूद ईआरवी (जिसे सरबजीत ने टक्कर मारी थी) पर तैनात पुलिसकर्मी अपने साथियों को बुलाने थाने में जाते दिखते हैं। इस बीच सरबजीत को उनका बेटा ग्रामीण सेवा (आरटीबी) में बैठा देता है। अगले ही पल आठ-दस पुलिसकर्मी हाथों में डंडा लिए बाहर आते हैं, तो सरबजीत भी वाहन से निकल आते हैं। उधर, सीएम अरविंद केजरीवाल ने सरबजीत के घर जाकर उनसे मुलाकात की और दिल्ली पुलिस की कार्रवाई की निंदा की है।

सिख चालक से मारपीट में तीन पुलिसकर्मी निलंबित
इससे पहले मुखर्जी नगर में रविवार को बीच सड़क पर सिख ग्रामीण सेवा चालक सरबजीत सिंह और उनके बेटे से मारपीट के मामले में दो एएसआइ संजय मलिक, देवेंद्र और सिपाही पुष्पेंद्र को निलंबित कर दिया गया है।