दिल्ली फिर से हुयी शर्मसार, मासूम बच्ची के साथ हुआ दुष्कर्म

नई दिल्ली : एक बार फिर शर्मसार हुई राजधानी, नशे में धुत युवक ने सात वर्षीय मासूम के साथ दरिंदगी की सारी हदें पार कर दीं। मासूम के हाथ बांधकर उसके साथ दुष्कर्म किया और उसके बाद प्राइवेट पार्ट में प्लास्टिक का “पाइप” डाल दिया। इतना ही नहीं, उन दरिंदों ने चीखने पर बच्ची की पिटाई भी की। लोगों ने आरोपी को जमकर पीटा खून से लथपथ हालत में बच्ची ने परिजनों को पूरी घटना बताई। इसके बाद लोग जब पार्क में पहुंचे तो आरोपी मौके पर ही मिल गया। लोगों ने उसकी बुरी तरह पिटाई की और पुलिस को सौंप दिया। मामला सीमापुरी इलाके का है। बच्ची की हालत गंभीर बनी हुई है। उसका जीटीबी अस्पताल में ऑपरेशन हुआ है। दिल्ली में निर्भया और गुड़िया के साथ हुई हैवानियत को लोग अभी भूले भी नहीं थे, कि राजधानी के सीमापुरी में इसी तरह का एक और मामला सामने आया है। सीमापुरी इलाके में सात साल की मासूम मां के साथ रहती है। मां ई-रिक्शा चलाती है। मासूम सोमवार शाम करीब सात बजे पास स्थित मंदिर में प्रसाद लेने जा रही थी। रास्ते में उसे पड़ोस में रहने वाला सलमान “20” वर्षी नशे में धुत था। बच्ची उसे पहले से जानती थी। आरोपी उसे बहला-फुसलाकर मंदिर के पास स्थित सूनसान पार्क में ले गया। उसने बच्ची के दोनों हाथ बांध दिए और उसे हवस का शिकार बनाया। इस बीच विरोध करने पर उसने उसकी पिटाई भी की। इतना ही नहीं दरिंदे ने बच्ची के प्राइवेट पार्ट में प्लास्टिक पाइप डाल दिया। इससे जब बच्ची जब चिल्लाई तो उसने उसकी फिर से पिटाई की और उसी हालत में उसे छोड़ दिया। किसी तरह बच्ची देर रात 11.30 रोती-बिलखती और खून से लथपथ हालत में घर पहुंची। इस दौरान परिजन भी उसे लगातार खोज रहे थे। जब परिजनों ने बच्ची की यह हालत देखी तो वे चीख पड़े। बच्ची काफी डरी हुई थी। उन्होंने किसी तरह से उससे पूछताछ की और उसे लेकर मंदिर के पास पहुंचे, जहां आरोपी मिल गया। बच्ची ने आरोपी की ओर इशारा करके बताया। तब तक काफी भीड़ जमा हो गई थी। भीड़ ने आरोपी की जमकर पिटाई की। सूचना मिलते ही पुलिस भी मौके पर पहुंच गई। पुलिस ने आरोपी को गिरफ्तार कर लिया। बच्ची को तुरंत जीटीबी अस्पताल ले जाया गया। जहां कुछ समय बाद उसकी हालत बिगड़ गई। जिसकी वजह से आधी रात के बाद ही उसका ऑपरेशन किया गया। अभी भी बच्ची की हालत गंभीर बनी हुई है। पुलिस ने इस मामले में “पॉक्सो एक्ट व दुष्कर्म” की धारा के तहत मामला दर्ज किया है। मंगलवार को दिल्ली महिला आयोग की अध्यक्ष स्वाति जयहिंद जीटीबी अस्पताल पहुंचीं। वहां उन्होंने बच्ची की मां से घटना की जानकारी ली और चिकित्सकों से बच्ची की हालत के बारे में जाना। उन्होंने इसे ट्विटर पर भी साझा किया है। जयहिंद का कहना है, कि छोटी सी बच्ची जिस पीड़ा से गुजरी है उसे बयां नहीं किया जा सकता है। बच्ची की कानूनी लड़ाई में पूरी तरह मदद की जाएगी जिससे कि आरोपी को फांसी की सजा हो सके। शीघ्र ही बच्ची के परिजनों को मुआवजा दिलवाया जाएगा और उनके पुनर्वास की व्यवस्था की जाएगी। परिवार में सिर्फ बच्ची व उसकी मां हैं, जो बेहद गरीब हैं।
वारदात के बाद ही पुलिस साक्ष्य जुटाने में लग गई। रात 11.30 बजे के बाद पुलिस को घटना की सूचना मिली। घटनास्थल पर कबाड़ रखे हुए थे। आरोपी कबाड़ का काम करता है। पुलिस ने घटना स्थल से अन्य चीजें बरामद की। मौके से वह पाइप भी मिल गया, जिसे बच्ची के प्राइवेट पार्ट में डाला गया था। रात को मौके पर छानबीन के अलावा मंगलवार को क्राइम व फोरेंसिक टीम ने साक्ष्य एकत्रित किए। आरोपी के पकड़े जाने के बाद जब पुलिस मौके से उसे ले जाने लगी तो लोगों ने प्रदर्शन करना शुरू कर दिया और उन्होंने आरोपी को सौंपने की मांग की। पुलिस ने लोगों को काफी समझाया तब वे माने। लोगों ने मांग कि पुलिस आरोपी के खिलाफ पर्याप्त सबूत जुटाए ताकि उसे फांसी की सजा हो। किसी तरह पुलिस आरोपी को मौके से थाने ले गई और फिर अस्पताल में उसका इलाज करवाया।