दुनिया की ये आख़िरी किताब आपको बना सकती है धनवान, बताए गए हैं अमीर बनने के कई उपाय

- in अजब-गजब, जीवनशैली

आज के समय में सभी लोग चाहते हैं कि उनके पास बहुत सारा पैसा हो, ताकि वह अपने मन की हर इच्छा को पूरी कर सकें। लेकिन कहा जाता है कि जैसा मनुष्य चाहता है, सबकुछ वैसा ही नहीं होता है। लोग तो बहुत चाहत रखते हैं, लेकिन सभी चाहतें पूरी नहीं हो पाती है। लेकिन आज हम आपको एक ऐसी किताब के बारे में बताने जा रहे हैं, जो आपके धनवान बनने के सपने को ज़रूर पूरा कर सकती है। इस किताब में कई ऐसे उपाय बताए गए हैं, जो आपको बहुत धनवान बना सकती है।

भविष्य के बारे में लिखे हैं कई रहस्य:

कहा जाता है कि रावण संहिता की एक प्रति देवनागरी लिपि में उत्तर प्रदेश के देवरिया जिले के गुरुनलिया गाँव में सुरक्षित रखी गयी है। रावण के बारे में सभी लोग जानते हैं कि वह एक राक्षस था। लेकिन शास्त्रों में यह भी बताया गया है कि रावण एक महान विद्वान ब्राह्मण भी था। रावण के पास तंत्र-मंत्र की अपार शक्ति थी। अपने इसी ज्ञान की वजह से रावण ने ज्योतिष और तंत्र शास्त्र सम्बंधी ज्ञान के लिए रावण संहिता की रचना की थी। रावण संहिता में ज्योतिष और तंत्र शास्त्र के माध्यम से भविष्य के बारे में जानने के कई रहस्यों के बारे में लिखा गया है।

रावण संहिता में हैं तंत्र सम्बंधी ज्ञान:

ऐसा माना जाता है कि भगवान शिव ने रावण से जो बातें की थी, वो रावण ने एक पुस्तक में लिख दी थी। इसी को रावण संहिता के नाम से जाना जाता है। रावण संहिता में राक्षस जादू, तंत्र-मंत्र के सभी ज्ञान हैं। केवल यही नहीं इसमें अमरता के बारे में भी कई बातें बतायी गयी हैं। आज हम आपको रावण संहिता में मौजूद कुछ उपायों के बारे में बताने जा रहे हैं, जो आपके भाग्य को चमकाने में मददगार साबित हो सकता है।

चमड़े के आसन पर बैठकर करें मंत्र जाप:

आपको बता दें रावण संहिता में बुरे समय को अच्छे समय में बदलने के भी कई उपायों के बारे में बताया गया है। जो भी व्यक्ति इन उपायों को अपनाते हैं, उसकी क़िस्मत कुछ ही समय में बदल जाती है। तंत्र का मतलब है स्त्रोत खोजना यानी स्वयं की खोज करना। इस संहिता के अनुसार किसी भी शुभ मुहूर्त में या किसी शुभ दिन सुबह जल्दी जागकर नित्य कर्मों से निवृत्त होने के बाद पवित्र होकर किसी पवित्र नदी के किनारे जाएँ। किसी शांत और एकांत जगह पर वट वृक्ष के नीचे चमड़े का आसन बिछाएँ। आसन पर बैठकर धन प्राप्ति के लिए “ॐ ह्रीं श्रीं क्लीं नमः ध्वह ध्वह स्वाहा” मंत्र का जप करें।

आपको बता दें इस मंत्र का जाप लगातार 21 दिनों तक करना है। मंत्र जप के लिए रुद्राक्ष की माला का उपयोग करें। 21 दिनों में अधिक से अधिक संख्या में मंत्र जप करें। जैसे ही यह मंत्र सिद्ध होगा धन प्राप्ति के योग बनने लगेंगे। अगर आप चाहते हैं कि आपके पास हर तरफ़ से पैसा आए तो इसके लिए दिवाली की रात को विधि-विधान से महालक्ष्मी की पूजा करें। पूजा करने के बाद सो जाएँ और सुबह जल्दी उठकर पलंग से बिना उतरे ही ऊपर दिए गए मंत्र का 108 बार जाप करें। आपका बुरा समय जल्दी ही दूर हो जाएगा और धनवान बनने से आपको कोई रोक नहीं पाएगा।

सभी बॉलीवुड तथा हॉलीवुड मूवीज को सबसे पहले फुल HD Quality में देखने के लिए यहाँ क्लिक करें