देवब्रत सैकिया ने सोनोवाल सरकार की आलोचना की

- in राष्ट्रीय

नेता विरोध दल के नेता देवब्रत सैकिया ने राज्य सरकार के कथित मानवाधिकार हनन के रवैये की कड़ी आलोचना की है। हाल ही में नगांव में एक पूर्व अल्फा सदस्य के साथ हुए बर्ताव को लेकर गिरफ्तार सुजीत दे नामक एक युवक की मौत का हवाला देते हुए उन्होंने यह प्रतिक्रिया दी। उन्होंने कहा कि कैंसर ग्रस्त होने की जानकारी देने के बाद भी पुलिस ने उसकी सेहत पर कोई ध्यान नहीं दिया। सैकिया ने कहा कि सुजीत दे ने टाटा मेमोरियल कैंसर अस्पताल मुंबई से अपना इलाज करवाकर 9 सितंबर को पुलिस के सामने आत्मसमर्पण कर दिया था।

उसने उसी वक्त पुलिस को कैंसर ग्रस्त होने और हर तीन महीने में इलाज करवाने की बात कही थीए लेकिन पुलिस न उसे पहले नगांव के स्थानीय चिकित्सालय और फिर गुवाहाटी मेडिकल कॉलेज में भर्ती करा दिया। नेता विरोध दल के नेता कहा कि सुजीत को बी बरुवा कैंसर अस्पताल में भर्ती कराया जाना चाहिए थाए लेकिन ऐसा नहीं किया गया। उसे हर हफ्ते नियमित तौर पर लिए जाने वाले इजेक्शन की भी सुविधा नहीं दी गई। ऐसे में एक अक्टूबर को गुवाहाटी मेडिकल कॉलेज में उसकी मौत हो गई।