देश के कई राज्यों में आंधी, तूफान से 43 से अधिक की मौत

नई दिल्ली : देश में मौसम अचानक बदल गया। गुजरात, महाराष्ट्र, मध्यप्रदेश, राजस्थान, झारखंड, हिमाचल, हरियाणा और नई दिल्ली में बारिश, आंधी और बिजली गिरने से पिछले दो दिन में 43 लोगों की मौत हो गई। वहीं, 50 से जख्मी हो गए। ज्यादा असर गुजरात, राजस्थान और मध्यप्रदेश पर पड़ा है। इन राज्यों में 34 लोगों की मौत हो गई। बारिश से इन राज्यों में बुधवार को भी तापमान 40 डिग्री से कम दर्ज हुआ। इन राज्यों में फसलें नष्ट हो गईं। मौसम विभाग ने बताया कि गुरुवार को भी ऐसा ही मौसम रहने का अनुमान है। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी, कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी और गृहमंत्री राजनाथ सिंह ने जान-माल के नुकसान पर शोक व्यक्त किया है। मौसम विभाग के महानिदेशक केजे रमेश ने बताया कि पाकिस्तान से आए पश्चिमी विक्षोभ और पिछले 3-4 दिनों से चल रही हीटवेव के चलते देश के पश्चिम-उत्तर हिस्से, मध्य क्षेत्र और विदर्भ और प.बंगाल तक तेज आंधी, गरज और बिजली तड़कने के साथ बारिश और ओले गिरे। यह स्थिति बुधवार शाम तक रहेगी। गुरुवार से फिर गर्मी बढ़ेगी। इस साल मध्य भारत से विदर्भ तक बार-बार हीटवेव चलेगी। हर छठे दिन आंधी और गरज के साथ बारिश होगी। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने इन सभी राज्यों में बारिश और आंधी-तूफान में मारे गए लोगों के परिवार को प्रधानमंत्री राष्ट्रीय राहत कोष से 2 लाख रुपए और जख्मी लोगों को 50 हजार रुपए की मदद देने का ऐलान किया।

उधर, गुजरात सरकार ने भी मृतकों के परिवार को 2-2 लाख रुपए देने का ऐलान किया। मध्य प्रदेश सरकार ने राज्य में बारिश से जुड़ी घटनाओं में मारे गए लोगों के परिवार वालों को चार-चार लाख रुपए मदद देने की बात कही है। गुजरात में 11 लोगों की मौत हो गई। राज्य के 33 में से 18 जिलों में बारिश हुई। पाटण, राजकोट, अरावल्ली, बनासकांठा, महेसाणा, अहमदाबाद, गांधीनगर, सुरेन्द्रनगर, मोरबी जिलों के विभिन्न हिस्सों में अचानक मौसम बदल गया। सबसे अधिक तीन मौतें महेसाणा में हुई हैं, जबकि दो-दो बनासकांठा और मोरबी जिलों में हुई। राजकोट के खाखराबेला में पेड़ गिरने से एक महिला की और साबरकांठा के चिंधमाल में बिजली का खंभा गिरने से एक व्यक्ति की मौत हो गई। बनासकांठा जिले के आशिया व चाला गांव में और मोरबी जिले के तीथल और गीदज गांव में दो-दो लोगों की और अहमदाबाद के वीरमगाम में बिजली गिरने से एक महिला की मौत हो गई। सुरेन्द्रनगर, महेसाणा और वीजापुर में भी 3 की मौत हो गई। वहीं मध्य प्रदेश में बारिश, आंधी और बिजली गिरने से जुड़ी घटनाओं में दो दिन में 16 लोगों की मौत हो गई। आसमानी बिजली गिरने से इंदौर में तीन, बदनावर में दो, खरगोन में एक, रतलाम एक, शाजापुर एक और श्योपुर में एक की मौत हुई। ग्वालियर में दिन का तापमान 11.5 डिग्री की गिरावट के साथ 30.1 डिग्री रिकॉर्ड हुआ। यह पचमढ़ी के तापमान 33 डिग्री के मुकाबले तीन डिग्री कम था। मौसम विभाग के मुताबिक, अगले दो दिनों में उत्तर-पश्चिमी और पूर्वी मप्र में आंधी के साथ ही हल्की बारिश की स्थिति बन सकती है। भोपाल में बूंदाबांदी हो सकती है। प्रदेश में मंगलवार को अचानक पलटे मौसम ने जमकर कहर बरपाया। अधिकांश शहरों में आंधी चली, बारिश हुई और ओले गिरे। पेड़ उखड़ गए। खंभे गिर गए। कच्चे मकानों की छतें उड़ गई, दीवारें गिर गई, टैंट-तंबू उड़ गए। बिजली घंटों गुल रही। हादसों में 9 लोगों की मौत हो गई, जबकि 20 घायल हो गए। झालावाड़ के गणेशपुरा में कच्चा मकान ढहा, 2 बहनों की मौत। समरोल में बिजली गिरने से दो बच्चों की मौत। उदयपुर के सैलाना व राजसमंद के परावल में बिजली गिरने से 1-1 मौत। अलवर में टैंट गिरने से दुल्हन के चचेरे भाई की मौत, 14 घायल। हनुमानगढ़ के करनीसर में मकान ढहा, वृद्ध की जान गई। जयपुर के जमवारामगढ़ में दीवार ढहने से मीठालाल (36) की मौत। प्रदेश में मंगलवार को तेज आंधी के साथ बारिश हुई। सिरसा में 7 और हिसार में 3 एमएम बारिश दर्ज की गई।

वहीं, ज्यादातर इलाकों में बूंदाबांदी हुई। इसके बाद दिनभर बादल छाए रहे। रात में भी आंधी चली। रेवाड़ी के गांव सुधराना में बिजली गिरने से खेत में काम कर रही 26 साल की पूनम की मौत हो गई। महिला का पति अमित और बेटा अनुज झुलस गए। आंधी बारिश से दिन का पारा 10 डिग्री तक गिरकर सामान्य से 5 डिग्री तक कम हो गया। करनाल में यह 40 डिग्री से 30 डिग्री पर आ गया। बुधवार को भी तेज आंधी और बारिश के आसार हैं। पूरे पंजाब में मंगलवार देर रात 50 से 60 किलोमीटर प्रति घंटा की रफ्तार से चली धूलभरी आंधी और तूफान से कई जिलों में हजारों एकड़ फसल को नुकसान हुआ। पंजाब के फरीदकोट, अबोहर, फाजिल्का, जालंधर, होशियारपुर, अमृतसर और गुरदासपुर में आंधी से सैकड़ों पेड़ गिरने से यातायात बाधित हुआ और बिजली सप्लाई प्रभावित रही। फाजिल्का में आंधी से अब तक 2 की मौत हो चुकी है। बुधवार को बादल छाए रहने के आसार हैं। सोमवार को बारिश के बाद गर्मी से राहत मिली है। सबसे ज्यादा बारिश फरीदकोट में 10.2 मिमी दर्ज की गई । लुधियाना में 9.1 मिमी, बठिंडा में 8.6 व सबसे कम बारिश अमृतसर में 0.5 एमएम रिकॉर्ड हुई। वहीं दिल्ली में मौसम विभाग के अनुसार, बुधवार को आसमान में बादल रहेंगे। 50 से 60 किमी की स्पीड से हवा के साथ हल्की बारिश हो सकती है। अधिकतम तापमान 28 डिग्री और न्यूनतम तापमान 20 डिग्री रहने की संभावना है। मौसम विभाग ने बताया कि गुरुवार को भी आंधी-बारिश की संभावना 60 से 70 प्रतिशत है।