देहरादून में फिर ममता के हाथ हुए लहूलुहान

माँ दुनिया का सबसे पावन शब्द, ममता का वो सागर जिसके प्रेम की गहराई और विशालता को स्वयं ईश्वर नहीं समझ पाए ,और इसके कारण माँ को परम पिता परमात्मा ने ही खुद से भी ऊंचा दर्जा दिया है. मगर एक कलयुगी माँ ने माँ नाम की परिभाषा ही बदल दी. सिर्फ संपत्ति की खातिर सौतेली मां ने बेटी का कत्ल कर शव के दो टुकड़े करते हुए दुनिया की हर माँ को शर्मसार किया.देहरादून में फिर ममता के हाथ हुए लहूलुहान

कोतवाली के खुड़बुड़ा मोहल्ले के अंसारी मार्ग की रहने वाली प्राप्ति सिंह (21) पुत्री स्व.अजीत सिंह एयरहोस्टेस का कोर्स कर रही थी, मोबाइल स्विच ऑफ आने पर उसके नाते-रिश्तेदारों और दोस्तों ने उसकी सौतेली मां मीनू से पूछताछ की तो उसने बताया कि प्राप्ति सुबह ही एक इंटरव्यू के लिए दिल्ली चली गई है, वह भी उससे बात करने के लिए परेशान है. मगर जब दिन भर से प्राप्ति की खोज खबर न मिल पाने के कारण रिश्तेदारों और युवती के दोस्तों को सौतेली मां पर शक हुआ मगर वह बहाने बनाती रही. आखिकार पटेलनगर कोतवाली में गुमशुदगी की रिपोर्ट लिखवाई गई. सौतेली माँ ने पुलिस को बताया कि प्राप्ति को उसने खुद दिल्ली जाने वाली बस में बिठाया है और दो बार मोबाइल पर बात भी की.

मगर मोबाइल की लोकेशन के जरिये मीनू की पोल खुल गई. सख्ती से पूछताछ के बाद उसने बताया कि प्राप्ति का उसने कत्ल कर दिया है और शव घर में ही है, पुलिस ने मौके पर का देखा तो स्टोर रूम में प्राप्ति की लाश दो टुकड़ो में पड़ी थी. निशानदेही पर कत्ल में इस्तेमाल सामान भी बरामद हुआ. पूछताछ में पता लगा की मामला संपत्ति का है जिसकी युवती इकलौती वारिस थी और मीनू को मकान नहीं बेचने दे रही थी. वही मीनू का आरोप है कि प्राप्ति खुले विचारों थी, कई दोस्त घर आते थे, जिस पर वह एतराज करती थी.फ़िलहाल पुलिस मामले से जुड़े हर बिंदु की जांच कर रही है.