धरमलाल कौशिक ने स्मृति ईरानी के बयान का किया बचाव

- in Uncategorized

रायपुर: कांग्रेस से राज्यसभा सांसद छाया वर्मा ने केंद्रीय मंत्री स्मृति ईरानी के उस बयान पर आपत्ति जताई थी, जिसमें स्मृति ईरानी ने छत्तीसगढ़ की महिलाओं को हाथ धोकर ही किचन में जाने की नसीहत दी थी। समृति ईरानी के बयान का बचाव करते हुए प्रदेश अध्यक्ष धरमलाल कौशिक ने कहा कि जनजागरण के लिए ये बात कही गई थी और इसके पीछे का मकसद अच्छा था और ये तूल देने वाली बात नहीं है। कौशिक ने कांग्रेस को पिछड़ा वर्ग विरोधी बताते हुए कहा की कांग्रेस ने लोकसभा से पारित ओबीसी बिल को राज्यसभा में गिरा दिया। पिछड़ा वर्ग आयोग को संवैधानिक दर्जा दिए जाने की भाजपा की कोशिश पर कांग्रेस ने कुठाराघात किया था और राज्यसभा में कांग्रेस के संशोधन प्रस्ताव के बाद ओबीसी बिल गिर गया था। इसी को लेकर भाजपा कल बिलासपुर में धरना-प्रदर्शन करेगी। इसे लेकर भाजपा प्रदेश अध्यक्ष धरमलाल कौशिक ने कहा कि कांग्रेस पिछड़ा वर्ग विरोधी है और उसके इस चेहरे को भाजपा आम लोगों के बीच उजागर करेगी।
वहीं कांग्रेस की संकल्प रैली को लेकर राजनांदगांव में धारा 144 लगाने का भी उन्होंने बचाव किया। धरमलाल कौशिक ने कहा कि लॉ एंड ऑर्डर बनाए रखना राज्य सरकार की जिम्मेदारी है और देश में पिछले कुछ वक्त में जो घटनाएं हुई हैं, उसे लेकर सरकार ने ये फैसला लिया है। कांग्रेस पर पलटवार करते हुए कौशिक ने कहा की कांग्रेस भाजपा पर हमेशा से किसान विरोधी होने का आरोप लगाती रही है। कांग्रेस को इस बारे में कहने का कोई हक नहीं है, क्योंकि उसने अपने 60 साल के शासन में कभी किसानों को बोनस नहीं दिया और न समर्थन मूल्य पर कभी फसलों की खरीदी की। वहीं किसानों के विरोध पर उन्होंने कहा कि प्रदेश सरकार किसानों के हित के लिए काफी काम कर रही है। उन्होंने कहा कि जिन 2 सालों में किसानों को बोनस नहीं मिला, उस दौरान भी किसी दूसरे रूप में किसानों को राशि का भुगतान किया गया। उन्होंने कहा कि भाजपा सरकार किसानों के दुख में उनके साथ है। ण यही वजह है कि 96 तहसीलों को सूखाग्रस्त घोषित करने के बाद किसानों को राहत देने के सारे उपाय किए जा रहे हैं। किसानों को 2100 करोड़ के बोनस का भुगतान भी दीवाली के पहले कर दिया जाएगा।