नारायण कार्तिकेयन की विशेष उपलब्धियां

- in खेल

नारायण कार्तिकेयन भारत के एकमात्र फॉर्मूला वन ड्राईवर हैं. उनका पूरा नाम ‘कुमार राम नारायण कार्तिकेयन’ है. उनका जन्म 14 जनवरी, 1977 को कोयम्बटूर, तमिलनाडुमें हुआ था. कार रेसिंग के अलावा नारायण कार्तिकेयन ट्रैप एंड स्कीट शूटिंग, फ़ोटोग्राफी और टेनिस में भी अपनी रुचि रखते हैं. वह स्वयं को फिट रखने के लिए योग तथा मेडिटेशन करते रहते हैं. उनकी शादी एक बिज़नेसमैन की बेटी पवर्णा से हुई. वैसे तो नारायण ने कई उपलब्धियां हासिल की हैं, लेकिन उनकी खास उपलब्धियां कुछ इस प्रकार हैं.नारायण कार्तिकेयन की विशेष उपलब्धियां

उपलब्धियाँ-

1. नारायण कार्तिकेयन भारत के प्रथम फार्मूला वन कार ड्राइवर हैं.
2. उन्होंने 16 वर्ष की आयु में चेन्नई में फार्मूला मारुती में भाग लेकर विजय प्राप्त की.
3. 1992 में वह फार्मूला रिनाल्ट कार की पायलट एल्फ प्रतियोगिता में सेमी फाइनल तक पहुंचे.
4. 1995 में ‘फार्मूला एशिया चैंपियनशिप’ में वह द्वितीय स्थान पर रहे.
5. 1996 में नारायण ‘एशिया इंटरनेशनल सीरीज’ जीतने वाले प्रथम भारतीय ही नहीं, प्रथम एशियाई थे.
6. 1997 के ‘ब्रिटिश फार्मूला ओपेल चैंपियनशिप’ में उन्होंने डेमिंगटन में पोल पोजीशन लेकर जीत हासिल की.
7. 2001 में नारायण फार्मूला निप्पन एफ 3000 चैंपियनशिप मुकाबले में प्रथम दस लोगों में अपना स्थान बना सके.
8. 2005 में नारायण जार्डन फार्मूला वन टीम के सदस्य बने और भारत प्रथम फार्मूला वन ड्राइवर बने.