निंहग ने सेवादार का सिर काटकर गुरुद्वारे की सीढ़ियों पर रखा, असली सच आया सामने

- in Uncategorized

निहंग ने गुरुद्वारे में मुख्य सेवादार का सिर काट दिया और गुरुद्वारे की सीढ़ियों में रख दिया। जांच में ऐसा किए जाने का असली सच सामने आया है, देखिए।

घटना पंजाब के फतेहगढ़ साहिब की है। एक निहंग ने वीरवार देर शाम गुरुद्वारा बिबानगढ़ साहिब के परिसर में ही मुख्य सेवादार पर गंडासी से कई वार किए और उसका गला धड़ से अलग कर दिया। इसके बाद आरोपी ने सेवादार का कटा सिर गुरुद्वारे की सीढ़ियों पर रख दिया और खुद छत पर चढ़ गया, क्योंकि उनके बीच किसी बात को लेकर रंजिश चल रही थी।

वारदात की सूचना मिलते ही पुलिस मौके पर पहुंची और आरोपी को चार घंटे की कड़ी मशक्कत के बाद नीचे उतारकर गिरफ्तार कर लिया। मृतक की पहचान फतेहाबाद के रतिया जिले के गांव अलीका के प्यारा सिंह (38) के रूप में हुई है। गौरतलब है कि गुरुद्वारा बिबानगढ़, गुरुद्वारा फतेहगढ़ साहिब परिसर के ठीक पीछे ही स्थित है और हत्या के बाद वहां तनाव का माहौल बना हुआ है।

एसपी डी दलजीत सिंह राणा ने बताया कि हत्यारोपी का नाम चरणजीत सिंह है और वह गांव लोहारी, बस्सी पठाना, फतेहगढ़ साहिब का रहने वाला है। हत्या करने के बाद चरणजीत सिंह छत पर चढ़ गया। इस बीच वहां मौजूद लोगों ने पुलिस को फोन कर दिया। मौके पर गई पुलिस ने शव को कब्जे में ले लिया। इसके बाद पुलिस की टीम ने हत्यारोपी को छत से उतरने को कहा, लेकिन उसने ऐसा करने से इंकार कर दिया।

एसपी ने बताया कि वह छत पर बैठकर चिल्लाता रहा- चाहे गोली मार दो, नीचे नहीं उतरूंगा। यहीं मर जाऊंगा। आखिरकार काफी देर मशक्कत करने के बाद पुलिस किसी तरह उसे नीचे उतारने में कामयाब रही। वहीं, पूछताछ में पता चला है कि प्यारा सिंह यहां 15-20 वर्षों से सेवा कर रहा था और प्यारा सिंह के साथ किसी बात को लेकर झगड़ा चल रहा ​था।