नोटबंदी के बाद बने 100 रुपए के नकली नोट,हुई जालसाजी, कही उनमें आप तो नहीं

- in फीचर्ड, व्यापार

1443258000-3413नोटबंदी के बाद सबसे ज्यादा मांग छोटे नोटों की हो रही है। इसी बात का फायदा उठाकर मध्य प्रदेश में नकली नोट बनाने वाले एक गिरोह ने 100 के नकली नोट छापने शुरू कर दिए। इन्‍होंने तकरीबन 2 लाख रुपये के नकली नोट छापे। इससे पहले कि गिरोह के सदस्य अपने मंसूबों मे कामयाब हो पाते, पुलिस ने उन्हें धर दबोचा।

यह मामला मध्यप्रदेश के ग्वालियर का है, जहां पुलिस ने 4 लोगों को 1 लाख 82 हजार रुपये के नकली नोटों के साथ गिरफ्तार किया है। पुलिस के मुताबिक, ग्वालियर पुलिस ने आशुतोष नाम के एक शख्स को नकली नोटों के साथ गिरफ्तार किया था।

पूछताछ में खुलासा हुआ कि आरोपी के तीन अन्य साथी 100 के नोटों की बढ़ती मांग को देखते हुए नकली नोट छाप रहे हैं। दरअसल आशुतोष को नकली नोट के ट्रायल के लिए भेजा गया था, लेकिन दुकानदार की समझदारी से वह पहली बार में ही पकड़ा गया। दुकानदार को नोट के रंग पर शक हुआ तो उसने पुलिस को बुलाकर आशुतोष को पकड़वा दिया।

जिसके बाद गिरोह का भंडाफोड़ हो गया। पुलिस ने आशुतोष के तीनों साथी पवन, बबलू और मोतीलाल को गिरफ्तार कर लिया है। पुलिस के मुताबिक, पकड़े गए आरोपियों में से एक फोटोग्राफर है। कथित आरोपी को रंगों की अच्छी पहचान है, इसीलिए नोट स्कैन करके उसका प्रिंट निकालने का काम उसे ही सौंपा गया था। पुलिस ने आरोपियों के पास से स्कैनर, प्रिंटर, इंक, कटर समेत काफी सामान बरामद किया है।