पति ने दिया था तीन तलाक, 15 साल बाद महिला ने मांगा इंसाफ

उत्तर प्रदेश के बरेली में एक 47 वर्षीय महिला ने तीन तलाक को लेकर इंसाफ मांगा है। महिला के पति ने उसे 15 साल पहले तीन तलाक दे दिया था। उसके बाद उससे हलाला करवाया गया लेकिन फिर से शादी नहीं की। अब 15 साल बाद महिला ने उसके लिए इंसाफ मांगा है।बरेलीः पति ने दिया था तीन तलाक, 15 साल बाद महिला ने मांगा इंसाफ

10वीं तक पढ़ी फातिमा नूरी ने बताया कि उसके निकाह के 3 साल बाद ही उसके पति ने उसे तीन तलाक दे दिया था। पति ने उसे इतनी छोटी से बात को लेकर तलाक दिया कि उसे अब याद भी नहीं है। महिला का दावा है कि तीन तलाक के बाद उसके पति को गलती का एहसास हुआ और उसने उससे फिर से निकाह करने को कहा। फातिमा का कहना है कि पति के साथ फिर से निकाह करने से पहले उसे हलाला करने को कहा गया। वह राजी हो गई। उसने इद्दत का पूरा समय बिताया लेकिन उसके पति ने उसके साथ फिर से शादी नहीं की। 
फातिमा ने बताया कि वह मूल रूप से एक सिख है। पहली शादी से उसके 2 बेटे हैं। 18 साल पहले उसनेइस्लाम कबूल किया था जब उसके परिजनों ने उसका निकाह हाफिज खान के साथ किया। फातिमा का आरोप है कि निकाह के बाद उसका पति हाफिज उसे प्रताड़ित करने लगा। एक दिन छोटी से बात को लेकर उसने उन्हें तीन तलाक दे दिया। तीन तलाक के बाद वह उनके बेटों के साथ इज्जतनगर में किराए का कमरा लेकर रहने लगीं। 

फातिमा का कहना है कि हाफिज 20 दिन बाद में उनके पास आया और उसके किए की माफी मांगी। उसनेहलाला के लिए एक आदमी की तलाश की और कहा कि इद्दत का समय पूरा होने के बाद वह उनके साथ फिर से निकाह कर लेगा। दो साल के बाद हाफिज ने उनसे संपर्क किया और कहा कि जल्द ही उनसे निकाह कर लेगा। जब उसने उनके साथ निकाह नहीं किया तो उन्होंने उसे धमकी दी कि वह उसके खिलाफ एफआईआर दर्ज कराएंगी। उनका आरोप है कि धमकी के बाद उसने 7 अन्य लोगों के साथ मिलकर उनके ऊपर हमला किया। उसने हाफिज के खिलाफ एफआईआर दर्ज कराई थी।