पश्चिम बंगाल में दौड़ी बुलेट ट्रेन, देखने वालों की जुटी भारी भीड़

कोलकाता : पश्चिम बंगाल की राजधानी कोलकाता में लोगों ने बुलेट ट्रेन को दौड़ते हुए देखा। दरअसल, कोलकाता में दुर्गा पूजा के पंडाल में बुलेट ट्रेन का डेमो रखा गया है, इसे देखने के लिए भारी भीड़ उमड़ रही है। बुलेट ट्रेन के इस डेमो का वीडियो जारी किया है, जिसे देखकर पहली नजर में लगता है कि यह वास्तविक बुलेट ट्रेन है। प्रयोग के तहत कोलकाता के कॉलेज स्ट्रीट पर सजे एक दुर्गापूजा पंडाल में बुलेट ट्रेन चलाई जा रही है। इस ट्रेन को लेकर दर्शकों में काफी उत्साह देखा जा रहा है। पूजा पंडाल में बुलेट ट्रेन की हुबहु कॉपी बनाई गई है, इसे देखकर आप अंदाजा लगा सकते हैं कि असल बुलेट ट्रेन कैसी होगी। इस बुलेट ट्रेन में तीन डिब्बे लगाए गए हैं, इतना ही नहीं ट्रेन को चलाने के लिए पंडाल के पास ट्रैक भी बनाया गया है। पंडाल में लगी इस बुलेट ट्रेन का वीडियो सोशल मीडिया पर तेजी से वायरल हो रहा है। वायरल वीडियो में देखा जा सकता है कि पंडाल के अंदर ही ट्रैक, स्टेशन, प्लेटफॉर्म के साथ-साथ सिग्नल भी लगाए गए हैं, इतना ही नहीं इस ट्रेन के रुकने के साथ ही प्लैटफॉर्म पर लगे गेट खुल जाते हैं, जिसके बाद ट्रेन के गेट भी खुलते हैं। वीडियो में बुलेट ट्रेन आगे चलने के साथ-साथ पीछे की ओर भी चलती हुई दिखाई देती है। जानकारी के मुताबिक, इसे बनाने में 70 हजार रुपए की लागत लगी है। बुलेट ट्रेन के इस डेमो में दिखाया गया है कि ट्रेन में बेबी चेंजिंग रूम की भी सुविधा दी जाएगी, जिसमें बेबी टॉयलेट सीट, डायपर डिस्पोजल और बच्चों के हाथ धोने के लिए कम ऊंचाई के सिंक लगे होंगे। व्हीलचेयर वाले यात्रियों के लिए अतिरिक्त जगह वाले टॉयलेट की सुविधा दी जाएगी। मालूम हो कि वास्तविक 750 सीटों वाले ई5 शिंकनसेन बुलेट ट्रेन एक नए जमाने का हाई स्पीड ट्रेन है। इसमें ‘वाल माउंटेड टाईप यूरिनल’ की सुविधा प्रदान की जाएगी, डिब्बों में आरामदायक स्वचालित घूमने वाली सीट प्रणाली होगी। ट्रेन में फ्रीजर, हॉट केस, पानी उबालने की सुविधा, चाय और कॉफी बनाने की मशीन और बिजनेस क्लास में हैंड टॉवल वार्मर की सुविधा प्रदान की जाएगी। डिब्बों में एलसीडी स्क्रीन लगी होगी, जहां मौजूदा स्टेशन, आने वाले स्टेशन, गंतव्य और अगले स्टेशन पहुंचने और गंतव्य पहुंचने के समय के बारे में जानकारी आती रहेगी। मोदी सरकार की पहली बुलेट ट्रेन परियोजना के अंतर्गत रेलवे 5000 करोड़ रुपये में जापान से 25 ई5 सिरीज के बुलेट ट्रेन खरीदने की तैयारी में है। भारतीय रेलवे इस परियोजना में 9800 करोड़ रुपये खर्च करेगी, जबकि बाकी खर्च महाराष्ट्र और गुजरात की सरकारें वहन करेंगी।