पिता से थी इतनी नफरत कि मरने तक दागता रहा गोलियां, फिर खूब रोया

विशाल के जेहन में पिता जयपाल सिंह के व्यवहार को लेकर नफरत कूट-कूट कर भरी हुई थी। रविवार को गुस्से का यह ज्वालामुखी फट ही पड़ा। विशाल के गुस्से का अंदाजा इसी से लगा सकते है कि वह रिवाल्वर की ट्रिगर दबाता ही चला गया। उसे पिता की मौत पर पश्चाताप भले ही है लेकिन इतना बड़ा कदम उठाने का गिला नहीं है। कोतवाली रानीपुर की हवालात में बंद चेकदार शर्ट और पेंट पहने मजबूत कद काठी के विशाल के चेहरे को देखकर हर किसी के जुबां से यही बोल फूटेंगे कि, वह बेहद ही शांत स्वभाव का दिखता है। इस शांत चेहरे के पीछे इतना गुस्सा भरा हुआ होगा, इसका अंदाजा नहीं लगाया सकता था।