पीएम मोदी का कांग्रेस पर हमला, अर्बन नक्सलियों को समर्थन देने का लगाया आरोप

जगदलपुर: प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने छत्तीसगढ़ के जगदलपुर में मेगा रैली कर आज बीजेपी के चुनाव प्रचार को रफ्तार दे दी। पीएम ने सीधे तौर पर कांग्रेस पर अर्बन नक्सलियों को समर्थन देने का आरोप लगाया। उन्होंने कहा कि कांग्रेस के नेताओं को जवाब देना चाहिए कि जब सरकार अर्बन नक्सलियों पर कार्रवाई करती है तो वे उनका बचाव क्यों करते हैं? उन्होंने कहा कि जंगलों से दूर शहरों में बैठे ये अमीर लोग (अर्बन नक्सल) रिमोट कंट्रोल से आदिवासियों की जिंदगी को तबाह कर रहे हैं। उन्होंने सवाल पूछते हुए कहा कि आपकी जिंदगी बर्बाद करने वालों को क्या आप माफ करोगे?
पीएम ने कहा, ‘आपने देखना होगा कि जो अर्बन माओवादी हैं वे शहरों में रहते हैं, साफ-सुथरे रहते हैं, उनके बच्चे विदेश में पढ़ते हैं लेकिन वहां बैठे-बैठे वे हमारे आदिवासियों के बच्चों को तबाह करते हैं। कांग्रेस के लोग उनका समर्थन करते हैं।’ मोदी ने आगे कहा कि जिन बच्चों के हाथों में कलम होनी चाहिए, ये राक्षसी मनोवृत्ति के लोग बंदूक पकड़ा देते हैं। उनकी जिंदगी तबाह कर देते हैं। उन्होंने कहा, ‘जो स्कूल में आग लगा दे, वह राक्षसी मनोवृत्ति नहीं तो क्या है?’

कैमरामैन की हत्या का भी जिक्र
पीएम ने पिछले दिनों नक्सली हमले में दूरदर्शन के कैमरामैन की हत्या का भी जिक्र दिया। उन्होंने कहा कि क्या गुनाह था उनका, वह तो आपके सपनों के लिए कंधे पर कैमरा लेकर आए थे लेकिन उन्हें भी मार दिया गया। पीएम ने 2 दिन पहले पांच जवानों की शहादत का भी जिक्र किया। मोदी ने कहा, ‘माओवादी निर्दोषों की हत्या करें और कांग्रेस के नेता उन्हें क्रांतिकारी कहें। क्या ऐसी कांग्रेस की जगह हिंदुस्तान में होनी चाहिए?’ पीएम ने कांग्रेस पर देश को गुमराह करने का भी आरोप लगाया। उन्होंने कहा कि झूठी बातें करने वालों का कोई भविष्य नहीं है।

‘कांग्रेस ने आदिवासियों के पहनावे का उड़ाया मजाक’
पीएम ने आरोप लगाया कि कांग्रेस पार्टी दलित, गरीब, वंचित, शोषित लोगों को अपना वोट बैंक का खजाना मानती है, वह उन्हें इंसान मानने को तैयार नहीं है। उन्होंने कहा कि कांग्रेस पार्टी आदिवासियों का मजाक उड़ाती है। कांग्रेस के लोग उनके कपड़े, गाजे-बाजे का मजाक उड़ाते हैं।पूर्वोत्तर भारत की एक घटना का जिक्र करते हुए मोदी ने कहा कि आदिवासियों ने मुझे एक बार एक पारंपरिक पगड़ी पहनाई तो कांग्रेस ने उसका मजाक उड़ाया। आदिवासी नाराज हो गए तो कांग्रेस के लोग डर गए।

पीएम ने कहा कि पहले कांग्रेस वाले घुट्टी पिलाते थे, अब उनके झूठ का जमाना चला गया। प्रधानमंत्री ने आगे कहा, ‘पुरानी सरकारों में जो सोच भी नहीं सकते थे, नक्सल इलाकों में हमने विकास की तरफ कदम बढ़ाया।’ उन्होंने कहा कि कांग्रेस ने नहीं बल्कि वाजपेयी सरकार ने आदिवासियों के लिए अलग मंत्री और विभाग बनाया। पुराने साथी बलिराम कश्यप का जिक्र करते हुए पीएम ने बताया, ‘उन्होंने मुझे बस्तर में घुमाया था। आज उनकी आत्मा जहां भी होगी, संतुष्ट होगी कि उन्होंने जिसे साथ घुमाया आज वह बस्तर के विकास की सोच रहा है।’

60 आदिवासियों की हत्या की चर्चा
कांग्रेस पर अटैक करते हुए मोदी ने कहा कि 60 आदिवासियों को गोली मार दी गई थी, कांग्रेस के नेताओं को इसका जवाब देना चाहिए। उन्होंने कहा कि आदिवासियों के अधिकारों के लिए आंदोलन चल रहा था लेकिन उनके साथ क्या हुआ ये बस्तर के बच्चे-बच्चे को पता है। उन्होंने कहा कि 12 को मतदान है। लोकतंत्र के लिए बीजेपी को वोट कीजिए क्योंकि हमें शांति की राह पर चलना है।

बांस, पेड़ और कांग्रेस
पीएम ने कहा कि कांग्रेस ने इतने समय तक सरकार चलाई पर उन्हें जंगलों की बातें पता नहीं थीं। कांग्रेस सरकार ने बांस को पेड़ की श्रेणी में डाल दिया था। इसके कारण आदिवासी बांस भी नहीं काट सकता था।